Ultracet Tablet Uses in Hindi – अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग

1
1146
ultracet tablet uses in hindi
ultracet tablet uses in hindi

ultracet tablet uses in hindi अल्ट्रासेट टैबलेट पेरासीटामोल और ट्रेमाडोल के संयोजन की दवाई है। जीसका उपयोग दर्द से जुडी बिमारीयों में किया जाता है, जैसे की गाठीया, जोडों में सुजन और दर्द, कमर दर्द, पेट दर्द, मासिक धर्म के दौरान दर्द, दांत दर्द इत्यादी… यह मस्तिष्क में रासायनिक दूतों को अवरुद्ध करके काम करता है जो हमें बताते हैं कि हमें दर्द हुआ है।

ultracet tablet price in hindi – अल्ट्रासेट टैबलेट डॉक्टर की परची पर दी जाने वाली दवा है, जिसकी किंमत है 219 रु इसमे आपको 15 गोलिया मिलती है।

ultracet composition in hindi- अल्ट्रासेट टैबलेट के संयोजन में पेरासीटामोल 325 मिली ग्राम और ट्रेमाडोल 37.5 मिली ग्राम होता है। इसमे पेरासीटामोल एनाल्जेसिक अँटीपायरेटिक है और ट्रेमाडोल मादक एनाल्जेसिक होता है जीसका ईस्तेमाल दर्द को कम करने में किया जा सकता है।

ultracet tablet dose in hindi- अल्ट्रासेट टैबलेट की सामान्य खुराक दिन में एक गोली की होती है, आप की स्थिती एवं बिमारी की आवश्यकता के अनुसार आपकी खुराक निर्धारित की जा सकती है।

ultracet tablet in hindi

Advertisement
अल्ट्रासेट टैबलेट की प्रकृतीएनाल्जेसिक अँटीपायरेटिक और मादक एनाल्जेसिक
ultracet tablet uses in hindiगाठीया, जोडों में सुजन और दर्द, कमर दर्द, मासिक धर्म के दौरान दर्द, सिरदर्द, दांत दर्द इत्यादी
अल्ट्रासेट टैबलेट के दुष्परिणाममतली, उल्टी, कब्ज, कमजोरी, एसिडिटी और मुंह में सूखापन
अल्ट्रासेट टैबलेट के ऐतिहादअल्ट्रासेट टैबलेट का ईस्तेमाल किडनी और लिव्हर फेल्युर में न करें, एवं इसके सेवन के बाद गाडी या भारी मशिनरी ऑपरेट न करें। इसके अलावा शराब के साथ इसका सेवन न करें।
ultracet tablet in hindi

Ultracet Tablet Uses in Hindi अल्ट्रासेट टैबलेट के हिंदी में उपयोग

1.गठिया

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

गठिया यह एक जोड़ों की बिमारी है। इसमे जोड़ों में अकडन और सुजन के साथ दर्द एक आम लक्षण होता है।गठिया एक संयुक्त या कई जोड़ों को प्रभावित कर सकता है।  कुल मिलाकर 100 से अधिक विभिन्न प्रकार के गठिया हैं।  सबसे आम प्रकारों में से दो ऑस्टियोआर्थराइटिस (OA) और रुमेटीइड आर्थराइटिस (RA) हैं।

ultracet tablet uses in hindi – पैरासिटामोल आमतौर पर पहली दवा होती है जो डॉक्टर गठिया सहित सभी प्रकार के मस्कुलोस्केलेटल दर्द से राहत के लिए सुझाते हैं, गठिया के दर्द को कम करने के लिए अल्ट्रासेट टैबलेट का उपयोग किया जा सकता है।

और पढ़े: गठिया का होम्योपैथिक इलाज

2.मासिक धर्म के दौरान दर्द

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

मासिक धर्म पेट के निचले हिस्से में सामान्य से अधिक ऐंठन और दर्द होना इसे डीसमनोरिया केहते है।

आधे से ज्यादा महिलाओं में मासिक धर्म 1 से 2 दिन आता है और मासिक धर्म पेट के निचले हिस्से में सामान्य से अधिक ऐंठन और दर्द होता है।

Advertisement
Advertisement

आमतौर पर, दर्द हल्का होता है।  लेकिन कुछ महिलाओं के लिए, दर्द इतना गंभीर होता है कि यह उन्हें महीने में कई दिनों तक अपनी सामान्य गतिविधियाँ करने से रोकता है।

ultracet tablet uses in hindi – अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग से आपको मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द से राहत मिलती है, इसमे मौजुद पेरासीटामोल और ट्रेमाडोल एनाल्जेसिक होणे के कारण यह परिणाम दिखाती है।

3.माइग्रेन

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

माइग्रेन एक मजबूत सिरदर्द है जो अक्सर मतली, उल्टी और प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता के साथ आता है।  यह घंटों या दिनों तक चल सकता है।

माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल बिमारी है जो कई लक्षणों का कारण बनती है। माइग्रेन के लक्षणों में मतली, उल्टी, बोलने में कठिनाई, स्तब्ध हो जाना या झुनझुनी, और प्रकाश और ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता शामिल हो सकती है। 

माइग्रेन अक्सर परिवारों में चलता है और सभी उम्र को प्रभावित करता है। इसका मतलब यदी आपके माता या पिता को माइग्रेन है तो यह संभावना अधिक होती है की यह आपको भी हो।

Advertisement

ultracet tablet uses in hindi – फिक्स्ड-डोज़ संयोजन ट्रामाडोल / पेरासिटामोल एक तेजी से काम करने वाली, लंबी अवधि की, मल्टीमॉडल एनाल्जेसिक है, जो कि माईग्रेन के दर्द को कम करने के लिए लाभदायक हो सकती है।

और पढ़े: दर्द की दवा Sumo tablet uses in hindi

4.पेरिफेरल डायबेटीक न्यूरोपैथी

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

पेरिफेरल न्यूरोपैथी में मधुमेह के कारण उच्च रक्त शर्करा से तंत्रिका को नुकसान होता है। पेरिफेरल न्यूरोपैथी के लक्षणो में शामिल है सुन्नता, सनसनी की हानि, और कभी-कभी आपके पैरों या हाथों में दर्द होता है। यह मधुमेह की सबसे आम जटिलता होती है।

लगभग 60% से 70% मधुमेह वाले सभी लोग अंततः पेरिफेरल डायबेटीक न्यूरोपैथी से पिदग्रस्त होते है, हालांकि सभी को दर्द नहीं होता है।

अध्ययनों से पता चला है कि मधुमेह वाले लोग अपने रक्त शर्करा के स्तर को यथासंभव सामान्य रखते हुए तंत्रिका क्षति के विकास के जोखिम को कम कर सकते हैं।

Advertisement

दर्द पेरिफेरल डायबेटीक न्यूरोपैथी के मुख्य लक्षणों में से एक है, दर्द से राहत पाने के लिए अल्ट्रासेट टैबलेट का उपयोग किया जा सकता है। (ultracet tablet uses in hindi)

और पढ़े: Combiflam Tablet Uses in Hindi

5.मामूली सर्जरी के पश्चात दर्द – Post Operative Pain

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

पोस्टऑपरेटिव दर्द एक मामूली सर्जरी के पश्चात प्रत्याशित और अस्थायी (2 से 5 दिन) होता है, आपके सर्जरी एवं आपकी स्थिती के अनुसार आपको दर्द  होता है। डॉक्टर हमेशा सर्जरी के बाद मादक एनाल्जेसिक जैसे की ट्रेमडोल नामक दवा का ईस्तेमाल करते है।

ultracet tablet uses in post operative pain – ऑपरेशन या सर्जरी के पश्चात दर्द के फार्माकोलॉजिकल प्रबंधन में ओपियोड एनाल्जेसिक का ईस्तेमाल करने की सलाह दि जाती है।

अल्ट्रासेट टैबलेट मादक एनाल्जेसिक ट्रेमाडोल के संयोजन की दवाई है। इसका ईस्तेमाल मामूली सर्जरी के पश्चात दर्द को प्रतिबंधित करने में किया जा सकता है। Reference

Advertisement

और पढ़िए : zincovit tablet uses in hindi

6.टखने की मोच का दर्द – ankle sprain pain

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
Ultracet Tablet Uses in Hindi

टखने की मोच अक्सर तब होती है जब पैर अचानक मुड़ जाता है या लुढ़कता है, जिससे टखने का जोड़ अपनी सामान्य स्थिति से बाहर निकल जाता है।  शारीरिक गतिविधि के दौरान, अचानक या अप्रत्याशित घटना के परिणामस्वरूप टखना अंदर की ओर मुड़ सकता है।  यह टखने के चारों ओर एक या एक से अधिक स्नायुबंधन को खिंचाव या दर्द का कारण बनता है।

इस चोट के परिणामस्वरूप पैर में सूजन या चोट लग सकती है।  जब आप प्रभावित क्षेत्र पर वजन डालते हैं तो आपको दर्द या असुविधा महसूस हो सकती है।  मोच के कारण टेंडन, कार्टिलेज और रक्त वाहिकाएं भी क्षतिग्रस्त हो सकती हैं।

टखने की मोच किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकती है।  खेलों में भाग लेना, असमान सतहों पर चलना, या यहां तक ​​कि अनुचित जूते पहनना, सभी इस प्रकार की चोट का कारण बन सकते हैं।

टखने में मोच के लक्षण

  1. सूजन (सूजन की दवा – Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi)
  2. लालीमा
  3. चोट
  4. दर्द
  5. प्रभावित टखने पर वजन डालने में असमर्थता
  6. त्वचा मलिनकिरण
  7. जोडों में अकडन

ultracet tablet uses in ankle sprain pain – निर्धारित खुराक संयोजन (fixed-dose combinations) के ईस्तेमाल से टखने की मोच का दर्द कम किया जा सकता है। अल्ट्रासेट टैबलेट में मौजुद पेरासीटामोल और ट्रेमाडोल का संयोजन मोच का दर्द कम करने में उपयोगी प्रभावी रूप से कार्यशील होता है।

Advertisement

7.मांसपेशियों में दर्द 

Ultracet Tablet Uses in Hindi - अल्ट्रासेट टैबलेट के उपयोग
मांसपेशियों में दर्द

इस प्रकार का दर्द मांसपेशियों, हड्डियों, स्नायुबंधन और नसों में दर्द को संदर्भित करता है।  आप इस दर्द को शरीर के सिर्फ एक क्षेत्र में महसूस कर सकते हैं बाकी शरीर में कोई दर्द नहीं होता, जैसे कि आपकी पीठ, कमर, घुटना आदी। 

यदि आपको फाइब्रोमायल्जिया जैसी व्यापक स्थिति है तो आप इसे पूरे शरीर में भी मेहसुस कर सकते हैं।
मांसपेशियों का दर्द आपके दैनिक जीवन में हस्तक्षेप करता है, ईसकी तीव्रता हल्के से लेकर गंभीर हो सकती है।

यह अचानक से शुरू हो सकता है और अल्पकालिक हो सकता है, जिसे तीव्र दर्द कहा जाता है।  दर्द जो 3 से 6 महीने से अधिक समय तक रहता है उसे क्रोनिक पेन कहा जाता है।

ultracet tablet uses in hindi – ऐसी स्थिती में डॉक्टर हमेशा एनाल्जेसिक दवा के संयोजन की सिफारिश करते है। अल्ट्रासेट टैबलेट के एक खुराक से मांसपेशियों के दर्द से आपको अच्छा राहत मिल सकती है। (Reference)

और पढ़े: मांसपेशियों में दर्द की दवा – Nicip Plus Tablet

Advertisement

Ultracet Tablet Dosage/Direction for Use – अल्ट्रासेट टैबलेट के खुराक और निर्देशन 

Ultracet Tablet Dosage/Direction for Use – अल्ट्रासेट टैबलेट के खुराक और निर्देशन 

मध्यम से गंभीर दर्द में अल्ट्रासेट टैबलेट की खुराक :
वयस्क: अल्ट्रासेट टैबलेट में ट्रामाडोल 37.5 मिलीग्राम और पेरासिटामोल 325 मिलीग्राम होता है। (Reference)

  • खुराक अंतराल – 2 गोलिया हर 6 घंटे ले
  • अधिकतम खुराक : 8 गोलिया / दिन
  • अधिकतम अवधि: 5 दिन

Ultracet Tablet Substitute In Hindi

Ultracet Tablet Substitute Medicine NameP rice MRP In Rs
Calpol T Tablet84.50
Kinedol-EF Effervescent Tablet170.35
Trabest 325mg/37.5mg Tablet95
PT 325mg/37.5mg Tablet55.60
Tolydol Tablet50.58
Trazodac P 325mg/37.5mg Tablet111.20
Dolonat Tablet71.39
Gudril Tablet104
Ultramol 325 mg/37.5 mg Tablet72.90
Ramcet Tablet62.90
Ultram 325 mg/37.5 mg Tablet95
Zyrotram P 325 mg/37.5 mg Tablet90.70
Domadol Plus 325 mg/37.5 mg Tablet95.80
Urgendol P 325 mg/37.5 mg Tablet127
Ultramed Tablet91
Ultracet Tablet Substitute

अल्ट्रासेट टैबलेट के ऐतिहाद – Contraindications in ultracet tablet uses in hindi

  • शराब/अल्कोहोल – अल्ट्रासेट टैबलेट में मौजुद पेरासीटामोल और ट्रेमाडोल एनाल्जेसिक और मादक एनाल्जेसिक होते है जीसके कारण उनिंदापन और निंद को बढावा मिलता है। इसिलिए शराब/अल्कोहोल के साथ अल्ट्रासेट टैबलेट के सेवन से आपको भारी दुष्परिणाम हो सकते है। आप बेहोष भी हो सकते हो।
  • हिप्नॉटिक्स, सेंट्रल-एनाल्जेसिक, ओपिओइड या साइकोट्रोपिक ड्रग्स का ईस्तेमाल अल्ट्रासेट टैबलेट के साथ न करें। ईससे आपके मास्तिष्क तंत्र को भारी नुकसान हो सकता है।
  • अनियंत्रित मिर्गी की समस्या वाले लोग इसका सेवन न करे।
  • MAOIs (Monoamine Oxidase Inhibitors) के दवा के साथ अल्ट्रासेट टैबलेट को न ले।

अल्ट्रासेट टैबलेट से जुडी विशेष सावधानियाँ – Special Precautions For Use Of Ultracet Tablet In Hindi

  • गाडी चालाना: अल्ट्रासेट टैबलेट के सेवन से उनिंदापन और निंद आ सकती है, इसके साथ आपको लक्ष केंद्रित करने में परेशानी हो सकती है। 
  • गर्भावस्था और स्थनपान: अल्ट्रासेट टैबलेट गर्भावस्था और स्थनपान सुरक्षित माना जाता है लेकीन डॉक्टर या फार्मासिस्ट के निर्देशन से ही इसका सेवन करें।
  • निर्भरता और लत: अल्ट्रासेट टैबलेट में मौजुद ट्रेमाडोल एक मादक एनाल्जेसिक होता है इस कारण ईससे निर्भरता और लत लगने की आशंका होती है।
  • सदमे वाले रोगीयों में आत्मघाती प्रवृत्ति निर्माण हो सकती है, ऐसे रोगीयों से अल्ट्रासेट टैबलेट को दूर ही रखें।
    मिर्गी वाले रोगीयों में अल्ट्रासेट टैबलेट के ईस्तेमाल से आपको मिर्गी के दोहरे पड सकते है, इसिलिए ऐसे रोगीयों को इसका ईस्तेमाल नहीं करना चाहीए।
  • किडनी और लिव्हर की समस्या वाले रोगी में अल्ट्रासेट टैबलेट का ईस्तेमाल केवल डॉक्टर के सलाह पर करें।

अल्ट्रासेट टैबलेट की विपरित प्रतिक्रियाएं और दुष्प्रभाव – Side Effects Of Ultracet Tablet In Hindi

  1. स्टीवंस-जॉनसन सिंड्रोम
  2. एसिडिटी
  3. मंदनाड़ी
  4. पेट में गैस बनना
  5. भूख में परिवर्तन, (भूक की दवा)
  6. शारीरिक कमजोरी
  7. कब्ज
  8. उलटी (उलटी की दवा)
  9. मूड में बदलाव
  10. खूजली (खुजली की दवा – खुजली की दवाइयां और घरेलू नुस्के)
  11. इंजायटी (anxiety meaning in hindi)
  12. Piles (PILES UPAY)

यदी ऐसे दूषप्रभाव आपको 2 से अधिक दिन तक दिखाई देते है तो आप ऐसे में डॉक्टर से बातचीत करें और दूषप्रभाओं को दूर करें।

FAQs Of Ultracet Tablet Uses In Hindi

1. अल्ट्रासेट टैबलेट कैसे काम करता है ? Mechanism Of Action Of Ultracet Tablet In Hindi

अल्ट्रासेट टैबलेट ट्रामाडोल और पेरासिटामोल के संयोजन की दवाई है, इसमे ट्रामाडोल एक ओपिओइड एनाल्जेसिक जो मास्तिष्क तंत्र पर प्रभावी होता है। यह म्यू-ओपिओइड रिसेप्टर्स को बांधता है और कमजोर रूप से नॉरपेनेफ्रिन और सेरोटोनिन के रिसेप्टेक को रोकता है। 

वही दुसरी ओर, पैरासिटामोल, एक पैरा-अमीनोफेनोल दवा है, जीसमे एनाल्जेसिक, ज्वरनाशक और दर्दनाशक गतिविधि होती है। 

ट्रामाडोल और पेरासिटामोल संयोजन की कार्रवाई अकेले ट्रामैडोल की तुलना में तेज शुरुआत होती है, और अकेले पैरासिटामोल की तुलना में कार्रवाई की अवधि लंबि होती है।

2. अल्ट्रासेट टैबलेट को कब लिया जाना चाहिए?

अल्ट्रासेट टैबलेट को डॉक्टर या फार्मासीस्ट द्वारा निर्देशित भोजन के साथ लिया जाना चाहिए।  टैबलेट को एक पूरे के रूप में निगलना है।  टैबलेट को चबाएं या क्रश न करें।

3. अल्ट्रासेट टैबलेट हिंदी में उपयोग करता है ? Ultracet Tablet Uses In Hindi ?

1.गठिया
2.मासिक धर्म के दौरान दर्द
3.माइग्रेन
4.पेरिफेरल डायबेटीक न्यूरोपैथी
5.मामूली सर्जरी के पश्चात दर्द – Post Operative Pain
6.टखने की मोच का दर्द – ankle sprain pain
7.मांसपेशियों में दर्द 

Advertisement
4. क्या Ultracet Tablet का उपयोग गर्भवती महिला और स्तनपान के दौरान सुरक्षित है?

गर्भवती महिला और स्तनपान के दौरान Ultracet Tablet का ईस्तेमाल केवल डॉक्टर के सलाह पर करना चाहीए। ऐसी स्थिती में self medication (स्वयं दवा) का उपयोग न करें।

5. क्या Ultracet Tablet को लेने के बाद शराब का सेवन करना सुरक्षित होता है?

Ultracet Tablet को लेने के बाद शराब का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि इससे रक्तस्राव की घटनाओं का खतरा बढ़ सकता है और साथ ही अन्य गंभीर दुष्प्रभावों का भी विकास हो सकता है जिससे कोमा और मौत शामिल है।

6. क्या मेरा दर्द दूर होने के बाद मैं दवा लेना बंद कर सकता हूं?

अल्ट्रासेट टैबलेट को आमतौर पर अल्पकालिक उपयोग के लिए अनुशंसित किया जाता है और जब आपका दर्द दूर हो जाता है तो इसे बंद किया जा सकता है।

7. क्या अल्ट्रासेट टैबलेट से लत लग सकती है?

जी हा, अल्ट्रासेट टैबलेट में मौजुद नार्कोटिक अनालजेसीक ट्रॅमेडॉल से  लत लग सकती है।

8. क्या Ultracet Tablet के उपयोग से चक्कर आ सकते हैं?

हाँ, Ultracet Tablet के उपयोग से कुछ रोगियों में चक्कर आना (बेहोश, कमजोर, अस्थिर या हल्का महसूस करना) हो सकता है। 

Advertisement
9. क्या Ultracet Tablet के उपयोग से दस्त हो सकता है?

हां, Ultracet Tablet के उपयोग से कब्ज हो सकता है।  कब्ज को रोकने के लिए सब्जियां, फल और अनाज जैसे उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ खाएं।  जैसे की चिया सिड्स, रागी और पाचन तंत्र बढाणे वाली दवाईया Unienzyme Tablet, Beplex Forte Tablet

इसिके साथ अपना आज का लेख “Ultracet Tablet Uses in Hindi” यही पर खतम होता है आपको इसके बारे में कुछ भी सवाल या शंका आशंका हो तो जरूर कमेंट करके पूछे.

1 COMMENT

Leave a Reply