Disease Information In Hindi

Constipation Meaning in Hiindi : कब्ज के लक्षण और कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि

constipation meaning in hindi

Constipation Meaning in Hiindi – pation को हिंदी में कब्ज कहा जाता है, यह एक ऐसी स्थिती है जीसमे आपको मल त्याग करणे में कठिनाई या मुश्किल होती है. यह अक्सर आहार या दिनचर्या में बदलाव या फाइबर के अपर्याप्त सेवन के कारण होता है.

Constipation Meaning in Hiindi

Constipation को हिंदी में कब्ज कहा जाता है, यह एक ऐसी स्थिती है जीसमे आपको मल त्याग करणे में कठिनाई या मुश्किल होती है. यह अक्सर आहार या दिनचर्या में बदलाव या फाइबर के अपर्याप्त सेवन के कारण होता है.

यदि आपको मल त्यागणे में तेज दर्द, मल में खून, तीन सप्ताह से अधिक समय तक कब्ज होता है, तो आपको अपने डॉक्टर से बात करना चाहिए. ताकी कब्ज का रामबाण इलाज किया जाए.

आप कब्ज के लिए योगासन, आयुर्वेदिक दवा, घरेलू उपाय या पतंजलि की दवा का ईस्तेमाल कर सकते हो लेकीन यह पुरी तरह आप पर निर्भर करता है की आपको कौनसा उपाय करना है.

कब्ज कैसे होता है? How does constipation happen in hindi?

कब्ज इसलिए होता है क्योंकि आपका बृहदान्त्र अपशिष्ट/मल  से बहुत अधिक पानी को अवशोषित करता है, जीससे मल सुखा पडता है और यह हिलने में कठिन हो जाता है और इसप्रकार मल का शरीर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है.

Advertisement

चूंकि भोजन सामान्य रूप से पाचन तंत्र के माध्यम से पचाया जाता है और पेठ में पोषक तत्व अवशोषित होते हैं. आंशिक रूप से पचने वाला भोजन (अपशिष्ट) छोटी आंत से बड़ी आंत में चला जाता है, जिसे कोलन भी कहा जाता है.  बृहदान्त्र इस कचरे से पानी को अवशोषित करता है, जो मल नामक एक ठोस पदार्थ बनाता है.

यदि आपको कब्ज है, तो भोजन पाचन तंत्र से बहुत धीमी गति से आगे बढ़ सकता है.  यह बृहदान्त्र को अधिक समय देता है – बहुत अधिक समय – कचरे से पानी को अवशोषित करने के लिए. ईससे मल सूख जाता है, सख्त हो जाता है और बाहर निकालना मुश्किल हो जाता है.

क्या कब्ज से आंतरिक क्षति हो सकती है? Can constipation cause internal damage in hindi?

यदि आपको लंबे समय तक कब्ज की परेशनी होती है, तो कुछ जटिलताएं हो सकती हैं,  इनमें शामिल हैं:

  1. आपके मलाशय में सूजी हुई नसें (एक स्थिति जिसे बवासीर कहा जाता है).
  2. कठोर मल से आपके गुदा की परत में घाव हो जाते है.
  3. पाउच में एक संक्रमण जीसे डायवर्टीकुलिटिस कहा जाता है.
  4. मलाशय और गुदा में बहुत अधिक मल / मल का ढेर (एक ऐसी स्थिति जिसे फेकल इंफेक्शन कहा जाता है).
  5. आपकी आंतों को हिलाने के लिए तनाव के कारण आपके श्रोणि तल की मांसपेशियों को नुकसान.

कब्ज के कारण क्या है ? What causes constipation in Hindi?

कब्ज के कई कारण हो सकते हैं जैसेंकी आपकी जीवनशैली, दवाइया, बिमारी और गर्भावस्था.

कब्ज के  जीवनशैली कारणों में शामिल हैं:

  1. कम फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाना,
  2. पर्याप्त पानी नहीं पीना,
  3. पर्याप्त व्यायाम नहीं करना,
  4. आपकी नियमित दिनचर्या में बदलाव, जैसे यात्रा करना या खाना या अलग-अलग समय पर सो जाना,
  5. बड़ी मात्रा में दूध या पनीर खाना,
  6. तनाव / इंजायटी
  7. मल त्याग करने की इच्छा का विरोध करना.

दवाएं जो कब्ज पैदा कर सकती हैं उनमें शामिल हैं:

कब्ज पैदा करने वाली बिमरिया और स्वास्थ्य स्थितियों में शामिल हैं:

  1. थायरॉईड की समस्या
  2. मधुमेह
  3. इरिटेबल बोवेल सिन्ड्रोम
  4. डायवर्तीकुलाइटीस 
  5. गर्भावस्था
  6. स्क्लेरोडेर्मा

कब्ज के लक्षण क्या होते है ? What are the symptoms of constipation in hindi?

  • आपके पास एक सप्ताह में तीन से कम बार मल त्याग हुआ हो.
  • आपका मल सूखा, सख्त और/या ढेलेदार है.
  • आपको मल निकलने में मुश्किल और दर्द होता है.
  • आपको पेट में दर्द या ऐंठन होते है.
  • आप पेट में फूला हुआ और मिचली महसूस करते हैं.
  • आपको लगता है कि मळत्याग के बाद अपनी आंतों को पूरी तरह से खाली नहीं किया है.

कब्ज की अंग्रेजी दवा बताईए ? How to treat constipation in hindi?

1.Unienzyme Tablet

unienzyme tablet uses in hindi
unienzyme tablet uses in hindi

एक आहार पूरक है जिसका उपयोग अपचन, कब्ज और हैंगओवर को नष्ट करने के लिए किया जाता है. ईसकी सक्रिय सामग्री में चारकोल, पैपैन और फंगल डायस्टेस  होते है.

युनिएनजाईम टैबलेट में papain होता है, जो कब्ज में मदद कर सकता है,  papain एक पपीता se निकला जाने वाला द्रव्य है जो सूजन और कब्ज के लक्षणों से राहत प्रदान करने में सहायक होता है.

2.Dulcoflex Tablet

Dulcoflex tablet uses in hindi
Dulcoflex tablet uses in hindi

डल्कोफ्लेक्स टैबलेट में मौजुद बिसकोडील दवा आंतों में पानी खींचती है जो मल को सख्त होने से रोकता है और इसके परिणामस्वरूप मल को हिलने-डुलने में आसानी होती है.

डल्कोफ्लेक्स टैबलेट का सबसे महत्वपूर्ण उपयोग यह है कि यह कब्ज के दौरान राहत प्रदान करता है और डल्कोफ्लेक्स सपोसिटरी यह मल को बाहर निकालने में मदद करने के लिए आंत्र की मांसपेशियों को उत्तेजित करके कार्य करता है.

इसके अलावा कब्ज की अंग्रेजी दवा के नाम नीचे दिए गये है:

  • प्रुकालोप्राइड
  • लुबिप्रोस्टोन
  • लैक्टुलोज
  • लिनाक्लोटाइड

कब्ज के लिए शल्य चिकित्सा / Surgery For Constipation In Hindi

कब्ज के इलाज के लिए सर्जरी की शायद ही कभी आवश्यकता होती है.  हालाँकि, यदि कब्ज बृहदान्त्र में एक संरचनात्मक समस्या के कारण होता है तो आपका डॉक्टर सर्जरी की सिफारिश कर सकता है.

इन समस्याओं के उदाहरणों में आंतो में रुकावट, आंत के एक हिस्से में संकुचन, गुदा में घाव या मलाशय के हिस्से का योनि में गिरना (रेक्टल प्रोलैप्स) शामिल हैं.

आउटलेट डिसफंक्शन कब्ज के कुछ कारणों का इलाज सर्जरी से किया जा सकता है.  परीक्षण के बाद इस पर सबसे अच्छी चर्चा की जाती है.  यदि आपके बृहदान्त्र, मलाशय या गुदा में कैंसर पाया गया तो आपको सर्जरी की भी आवश्यकता हो सकती है.

कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि

Buy On Amazon

पतंजलि दिव्या चूर्ण यह दवा कब्ज का रामबाण इलाज मानी जाती है, दिव्य चूर्ण कब्ज और अपच के लिए एक सिद्ध औषधि है.  यह प्राकृतिक अर्क के संयोजन से बनाया गयी है जो आपके पाचन तंत्र के विषाक्त पदार्थों को शुद्ध करने की क्षमता रखती है.

दिव्य चूर्ण में रेचक गुण भी होते हैं,  यह पाचन में सुधार करता है, भूख बढ़ाता है और गैस बनने और बेचैनी को कम करता है. कब्ज और नाराज़गी को जीवन का आनंद लेने से न रोकें. आयुर्वेदिक चिकित्सा के सुखदायक स्पर्श का अनुभव करने के लिए दिव्य चूर्ण लें.

कब्ज के लिए योगासन / Yoga for constipation in hindi

योगासन कब्ज, पाचन समस्याओं के दर्द और परेशानी को कम करने में मदद कर सकता है. यह शरीर का तणाव कम करता है और पाचन तंत्र को खुला करके काम करता है.

मत्स्यासन योगासन

कब्ज के लिए योगासन
कब्ज के लिए योगासन
  1. यह बैठा हुआ मोड़ योगासन आपके पाचन अंगों और विषहरण में सहायता करता है.
  2. बैठने की स्थिति में इस योगासन को शुरू करें.
  3. अपने बाएं पैर को मोड़ें और अपने बाएं पैर को अपने दाहिने घुटने के ऊपर जमीन पर रखें.
  4. अपने दाहिने घुटने को मोड़ें और अपने दाहिने पैर को अपने कुल्हे के पास टिकाएं.
  5. अपनी दाहिनी कोहनी को अपने बाएं घुटने के पास रखें और अपने बाएं कंधे को देखते हुए अपने शरीर को मोड़ें.
  6. पकड़ो, और फिर बाजू को स्विच करें.

बच्चे की मुद्रा Child’s Pose

कब्ज के लिए योगासन
कब्ज के लिए योगासन
  • यह योगासन एकदम आसान और पेट की गैस को कम करने में सक्षम है.
  • अपने घुटनों के साथ फर्श पर बैठकर शुरू करें, जो कूल्हे-दूरी से थोड़ा अधिक फैला हुआ है और आपके पैर आपके नीचे टिके हुए हैं, बड़े पैर की उंगलियां छू रही हैं.
  • आगे झुकें और अपने हाथों को अपने सामने रखें,
  • आगे की ओर रेंगते हुए जब तक कि आपका माथा चटाई को न छू ले.
  • इस मुद्रा में गहरी सांस लेते हुए रुकें.

कब्ज का घरेलू उपाय क्या है? home remedies for constipation in hindi

1.अधिक फाइबर खाएं

कब्ज का घरेलू उपाय
कब्ज का घरेलू उपाय

कब्ज का इलाज करने के लिए, डॉक्टर अक्सर लोगों को अपने आहार में फाइबर का सेवन बढ़ाने के लिए कहते हैं.
ऐसा इसलिए है क्योंकि फाइबर का सेवन बढ़ने से मल त्याग की मात्रा और स्थिरता बढ़ जाती है, जिससे उन्हें गुजरना आसान हो जाता है.  यह उन्हें पाचन तंत्र से अधिक तेज़ी से गुजरने में भी मदद करता है.

घुलनशील फाइबर – चिया बीज, जई (Oats), जौ, मेवा, बीज, बीन्स, दाल, और मटर, साथ ही कुछ फलों और सब्जियों में मौजूद फायबर पानी को अवशोषित करते हैं और पेट में एक जेल जैसा पेस्ट बनाते हैं, जो मल को नरम करता है और इसकी स्थिरता में सुधार करता है.

2.दूध और घी

कब्ज का घरेलू उपाय
कब्ज का घरेलू उपाय

दूध और घी के फायदों के बारे में हम लंबे समय से जानते हैं. हालांकि, वे कब्ज के लिए प्रभावी घरेलू उपचार भी होते हैं.
आप एक गर्म कप दूध में 1 या 2 चम्मच घी मिलाकर रात को सोते समय ले सकते हैं.  वे कब्ज से छुटकारा पाने के सबसे प्रभावी और प्राकृतिक तरीकों में से एक के रूप में कार्य करते हैं.

3.अंजीर

कब्ज का घरेलू उपाय
कब्ज का घरेलू उपाय

इसे गर्म पानी में भिगोके खाणे पर तुरंत कब्ज से राहत दिला सकता है, इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है और इसकी अत्यधिक अनुशंसा भी की जाती है.

बच्चों में कब्ज के लिए अंजीर सबसे अच्छा घरेलू उपचार माना जाता है.  इसके अलावा, आप अपने पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए इसे अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं.

FAQs Of Constipation Meaning In Hindi

Constipation Meaning in Hiindi

Constipation को हिंदी में कब्ज कहा जाता है, यह एक ऐसी स्थिती है जीसमे आपको मल त्याग करणे में कठिनाई या मुश्किल होती है. जीसके अनेक कारण हो सकते है.

कब्ज की अंग्रेजी दवा का नाम बताईए?

Unienzyme Tablet
Dulcoflex Tablet
प्रुकालोप्राइड
लुबिप्रोस्टोन
लैक्टुलोज
लिनाक्लोटाइड

कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि की दवा बताईए ?

पतंजलि दिव्या चूर्ण यह दवा कब्ज का रामबाण इलाज मानी जाती है, यह प्राकृतिक अर्क के संयोजन से बनाया गयी है जो आपके पाचन तंत्र के विषाक्त पदार्थों को शुद्ध करने की क्षमता रखती है.

कब्ज के लिए कौन से योगासन करणे चाहीए?

मस्तासन
बच्चे की मुद्रा
भुजंगासन
पश्चिमोत्तानासन
सालभासन
जानुशीरासन

मेरे आहार में कितना फाइबर होना चाहिए?

अधिकांश भारतीय एक दिन में केवल 12 ग्राम फाइबर खाते हैं,  अनुशंसित मात्रा एक दिन में 25-35 ग्राम फाइबर के बीच होती है.

क्या मुझे फाइबर खाने या पूरक का उपयोग करने में कोई अंतर है?

नहीं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप फाइबर खाते हैं या सप्लीमेंट लेते हैं.  कुछ रोगियों को लगता है कि पूरक उन्हें कम गैस देता है.

तो उम्मीद है दोस्तो आपको Constipation Meaning in Hiindi के बारे में पता चला होगा, और इसीके साथ कब्ज के लक्षण, कब्ज की अंग्रेजी दवा और कब्ज का रामबाण इलाज भी पता चला होगा। यदि आपको कोई भी प्रश्न हो तो जरूर कमेंट करके पूछे.

Advertisement

12 Comments

12 Comments

  1. Pingback: Unienzyme Tablet Uses In Hindi : उपयोग और लाभ हिंदी में - ArogyaOnline

  2. Pingback: Beplex Forte Tablet Uses in Hindi - बेप्लेक्स फोर्ट टैबलेट - ArogyaOnline

  3. Pingback: Zincovit Tablet Uses in Hindi जिंकोविट टैबलेट के फायदे - ArogyaOnline

  4. Pingback: पेट दर्द : कारण, लक्षण, दवा, टेबलेट नाम - stomach pain in hindi - ArogyaOnline

  5. Pingback: Evion 400 Uses in Hindi - एवियॉन 400mg कैप्सूल के उपयोग - ArogyaOnline

  6. Pingback: जिंकोविट सिरप के फायदे - zincovit syrup uses in hindi - ArogyaOnline

  7. Pingback: Rantac 150 Tablet Uses in Hindi - रैनटैक 150 टैबलेट का उपयोग - ArogyaOnline

  8. Pingback: amlodipine tablet uses in hindi - एमलोडीपीन का उपयोग - ArogyaOnline

  9. Pingback: Anjeer ke fayde - भीगे अंजीर खाने के फायदे - ArogyaOnline

  10. Pingback: Doxinate tablet uses in hindi - ArogyaOnline

  11. Pingback: Aptivate syrup uses in hindi - ArogyaOnline

  12. Pingback: विटामिन बी 12 : कमी से होने वाले रोग, फायदे, दुष्प्रभाव, खुराक और स्त्रोत - ArogyaOnline

Leave a Reply

Trending

To Top