Connect with us

दवाइया

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi – उपयोग हिंदी में

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi – ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन टैबलेट प्रोटीओलायटिक एंजाइम वर्ग की दवा है जिसका उपयोग दर्द से जुडी बिमारियों में किया जाता है जिनमें शामिल है गठिया,बोन फ्रॅक्चर,कमर दर्द,जोड़ो का दर्द,ट्रॉमा इंजरी.

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में

Trypsin Chymotrypsin Tablet uses in hindi

नमस्कार दोस्तो, आरोग्य ऑनलाईन में आपका स्वागत है. आजके इस लेख में हम एक ऐसी दवाई के बारे मे जानेंगे जो बहोत आम तौर पर डॉक्टर दर्द कम करने के लिए देते है, जीसका नाम है trypsin chymotrypsin tablet.
इस लेख मे trypsin chymotrypsin tablet uses hindi के बारे में क्या क्या पढने को मिलेगा ?

1) ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन गोली क्या होती है ? ( trypsin chymotrypsin tablet in hindi ):

सबसे पेहले में आपको बता दु trypsin chymotrypsin का उच्चारण ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन होता है इसे कइ लोग ट्रिप्सिन चीमोट्रिप्सिन केहते है जो की गलत होता है.अब जानते है trypsin chymotrypsin के बारे मे ये क्या होता है,ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन एक  प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम है जो 1960 के दशक से दैनिक जीवन मे उपयोग मे लाई गइ है.यह एंजाइम शरीर मे होने वाली वेदना एवं दर्द से छुटकारा दिलाते है और trypsin chymotrypsin के इस गुणधर्म की वजह से इन्हे दर्दनाशक स्वरूप से अस्थिसंधिशोथ (osteoarthritis), रुमेटोईड अर्थरीटीस (Rheumatoid Arthritis), जोड़ों का दर्द, पीठ का दर्द इत्यादी दर्द वाली बिमारीयों मे किया जाता है.ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन स्तनधारी अग्न्याशय ( mammalian pancreas ) में शरीर द्वारा निर्माण किया जाता है लेकीन यह निष्क्रिय रूप मे होता है जो की हायड्रोलायसिस की प्रक्रिया के बाद सक्रिय हो जाता है.

2) ट्रिप्सिन के अन्य नाम (Other Names Of Trypsin in Hindi)

  • प्रोटीनेस
  • प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम
  • ट्रिप्सिना


ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन  का उपयोग कीन कीन बिमारीयों मे किया जाता है ? trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi


trypsin chymotrypsin tablet एक सूजन-रोधी एवं दर्दनाशक दवा है, जो दर्द और सूजन को कम करने में उपयोगी है और इसे सर्जरी के बाद पोस्ट-ऑपरेटिव घाव और चोट या मोच के त्वरित उपचार में ईस्तेमाल किया जाता है

1. गठिया (Arthritis)

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में
trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi

प्रोटीओलायटिक एंजाइम जैसे कि कीमोट्रिप्सिन शरीर मे होने वाली वेदना प्रणाली को को स्थगित करने की क्षमता रखता है, लेकीन इसे अन्य प्रोटीयोलाइटिक एंजाइमों (जैसे, ब्रोमेलैन, रुटिन, ट्रिप्सिन) को साथ मे मिलाकर ऑस्टियोआर्थराइटिस और रुमेटोईड आर्थराइटिस के लक्षणों में सुधार करने के लिए ईस्तेमाल किया जाता है.
कीमोट्रिप्सिन और अन्य प्रोटीयोलाइटिक एंजाइमों (जैसे, ब्रोमेलैन, रुटिन, ट्रिप्सिन) के मेल से बनी गोली घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के लक्षणो मे डायक्लोफेनेक, असिक्लो फेनेक और अन्य NSAIDs (nonsteroidal anti-inflammatory drug) से अधिक प्रभावशाली है.

Source: Wolfgang W. Bolten, Michael J. Glade, Sonja Raum, Barry W. Ritz, “The Safety and Efficacy of an Enzyme Combination in Managing Knee Osteoarthritis Pain in Adults: A Randomized, Double-Blind.

और पढे : गठिया बात रोग – गठिया का होम्योपैथिक इलाज

2. घाव भरने और टिशू रिपेर

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में
trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi

कीमोट्रिप्सिन का और एक मौल्यवान फायदा यह है की इसका ईस्तेमाल आर्थोपेडिक चोटों की मरम्मत और सर्जरी के बाद हुए चोटो को जलदी से जलदी भरने के लिए किया जाता है,इसके अलावा इसमे एंटीऑक्सिडेंट, दर्दनाशक, और सुजन नाशक गुणधर्म जो इसे अधिक लाभदायक बनाते है.
रिसर्च से पता चलता है कि जब एंजाइम ट्रिप्सिन के साथ किमोट्रिप्सिन संयोजन में उपयोग किया जाता है, तो घावों और दर्द को अधिक तेजी और अधिक मात्रा मे किया जाता है.

Shah, D., Mital, K. The Role of Trypsin:Chymotrypsin in Tissue RepairAdv Ther 35, 31–42 (2018).

3. पचनशक्ती को बढावा

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में
trypsin uses in hindi

कीमोट्रिप्सिन एक एंजाइम है जो हमारे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों में प्रोटीन को पचन करके उनको पेप्टाइड्स और अमीनो एसिड मे परिवर्तित करता है.यदी आपका शरीर पेप्टाइड्स और अमीनो एसिड को पर्याप्त मात्रा मे नही बनाता तो आपको पेट की अनेक समस्या हो सकती है, जैसे कि गैस, ऐंठन और पेट दर्द.

Rawski, R.I., Sanecki, P.T., Dżugan, M. et al. The evidence of proteases in sprouted seeds and their application for animal protein digestionChem. Pap. 72, 1213–1221 (2018).

4. इरिटेबल बोवेल सिन्ड्रोम 

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में
trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi

अनेक संशोधनो मे यह बताया गया है की प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम जैसे की कीमोट्रिप्सिन, ट्रिप्सिन, रुटोसाईड, ब्रोमेलीन इत्यादी.. इरिटेबल बोवेल सिन्ड्रोम के लक्षणो को प्रभावी रूप से कम करते है इसमे सूजन, गैस, कब्ज और पेट दर्द शामिल है.

उदाहरण के लिए, 126 इरिटेबल बोवेल सिन्ड्रोम वाले लोगों पर किए गए एक अध्ययन मे पपैन का उपयोग किया गया जीस वजह से कब्ज, सूजन और दर्दनाक दर्द पर रोख लगाई गयी.

Muss C, Mosgoeller W, Endler T. Papaya preparation (Caricol®) in digestive disorders. Neuro Endocrinol Lett. 2013;34(1):38-46. PMID: 23524622.

और पढे: सूमो टैबलेट के उपयोग हिंदी में

5.बोन फ्रॅक्चर

Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi - उपयोग हिंदी में
trypsin tablet uses in hindi

बोन फ्रॅक्चर एक ऐसी समस्या है जीसमे चोट की वजह से हड्डी तूट जाती है और इस वजह से सुजन होती है, कीमोट्रिप्सिन और ट्रिप्सिन का संयोजन सुजन कम करने मे भारी रूप से प्रभावशाली है.

ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन के अन्य फायदे other trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi

  • आच्छि तरह पाचन की वजह से सही वजन बढाने मे उपयोगी
  • आवश्यक विटामिन और खनिजों के अवशोषण को बढ़ावा देना
  • डायरिया से बचाव
  • पेट मे होणे वाले गैस से मुक्ती

प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम का उपयोग कैसे करें ? How To Use Proteolytic Enzymes In Hindi ?

  • आप अपने लक्ष्यों के आधार पर कई तरीकों से प्रोटियोलिटिक एंजाइम का उपयोग कर सकते हैं
    यदि आप स्वाभाविक रूप से इन प्रभावशाली एंजाइमों का सेवन बढ़ाना चाहते हैं, तो अपने आहार में प्रोटियोलिटिक एंजाइमों से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करे जैसे की पपिता, दही, किवी और किण्वित खाद्य पदार्थ यह खाद्य प्रोटियोलिटिक एंजाइम से भरपूर होते है.
  • यदि आप एक प्रोटियोलिटिक एंजाइम पूरक (Supplement) ले रहे हैं, तो एक प्रतिष्ठित ब्रांड से खरीदना, जो पोटेंसी और गुणवत्ता का परीक्षण करते हो.
  • मार्केट मे अनगिनत प्रोटियोलिटिक एंजाइम पूरक (Supplement) उपलब्ध हैं, प्रत्येक पूरक अलग-अलग एंजाइम संयोजन के साथ है आप अपने हिसाब से संयोजन का चुनाव करें, लेकीन ध्यान रहे किसी भी पूरक आहार की शुरुआत से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें.
Trypsin Chymotrypsin Tablet uses in hindi

ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन के कुछ प्रसिद्ध संयोजन और उनके उपयोग (trypsin chymotrypsin uses in hindi)

Tablet NameMRP
Chymoral Tablet68/- RS
Zypsin 50000AU Tablet80/-RS
Chymocip Tablet281/-RS
Chymapra Tablet145/-RS
Chymosoft Tablet110/-RS
Trypsin + Chymotrypsin Tablets Brands

ट्रिप्सिन tablet और कीमोट्रिप्सिन के दुष्परिणाम ( Side Effects Of trypsin chymotrypsin tablets use in hindi) :

  • गर्भावस्था और स्तनपान: यह जानने के लिए पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है की क्या गर्भवती या स्तनपान कराने के दौरान कीमोट्रिप्सिन का उपयोग करना सुरक्षित है या नहीं इसिलिए गर्भावस्था और स्तनपान के वक्त ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन का प्रयोग ना करें. 
    सांस लेने में कठिनाई और सांस लेते समय नाक से आवाज आना.
  • जीभ या गले मे सूजन.
  • खाँसी होना
  • सिर चकराना

हालाकी ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन सुरक्षित है लेकीन कूछ लोगो को ईसकी ऍलर्जीक प्रतिक्रिया हो सकती है जीस कारण उपर दिये गये लक्षण दिखाई दे सकते हैं और यह लक्षण तीव्रगाहिता संबंधी सदमा मे शामिल होते है इसलीये इसमे से कोई भी  लक्षण दिखाई दे तो तुरंत नजदीकि इस्पिताल मे जाये.

और पढे : anxiety meaning in hindi – एंजायटी क्या हैं ?

ऐसी दवाएइया जो ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन टैबलेट के साथ नहीं ली जानी चाहिए ( Medicines that should not be taken with trypsin chymotrypsin tablet in hindi )

  • Anticoagulantscoumadin,
  • heparin
  • clopidogrel
  • Alcohol

ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन और ब्रोमेलीन टॅबलेट (Trypsin Chymotrypsin and Bromelin Tablet Uses in Hindi)

ऑस्टियोआर्थराइटिस (OA) एक अपक्षयी विकार है जो कि उपास्थि और आर्टिकुलर सतह के क्रॉनिक इंफ्लेमेटरी रेस्पॉन्स से जुडा होता है, जिसमें टेम्पोरोमैंडिबुलर जॉइंट (TMJ) शामिल होता है, ऑस्टियोआर्थराइटिस के प्रमुख लक्षणों में से एक जोडो का दर्द होता है और यह जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करता है.

ट्रिप्सिन कीमोट्रिप्सिन और ब्रोमेलीन की टॅबलेट कीन कीन बिमारीयों मे ईस्तेमाल की जाती है ? (Uses Of Trypsin Chymotrypsin and Bromelin Tablet In Hindi)

1.ऑस्टियोआर्थराइटिस

2.रुमेटोईड आर्थराइटिस

3.जोडो का दर्द

4.कमर दर्द

5.फ्रॅक्चर

6.ट्रॉमा

7.एक्सिडंट

ट्रिप्सिन, कीमोट्रिप्सिन, ब्रोमेलीन और रुटोसाईड टॅबलेट (Trypsin Chymotrypsin, Bromelin & Rutoside Tablet Uses in Hindi)

इस टॅबलेट मे प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम ट्रिप्सिन, कीमोट्रिप्सिन, ब्रोमेलीन के साथ मे रुटोसाईड ट्राइहाइड्रेट भी शामिल है जो की सूजन के प्रबंधन के लिए एक सहायक चिकित्सा के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है और साथ मे यह घाव भरने को बढ़ावा दे सकता है इसलीये यह ऑस्टियोआर्थराइटिस और रुमेटोईड आर्थराइटिस के दो प्रमुख लक्षण सुजन और दर्द मे लाभदायक है

और पढे : dydroboon tablet uses in pregnancy in hindi

ट्रिप्सिन, कीमोट्रिप्सिन, ब्रोमेलीन और रुटोसाईड टॅबलेट के एहतियात Precautions Of Trypsin Chymotrypsin, Bromelin & Rutoside Tablet In Hindi

एलर्जी और इसके लक्षणों के बारे में संक्षिप्त जानकारी: 

• चमडी पर लाल डाग (एलर्जी कि दवा)

खुजली 

• साँस लेने मे आपत्ती 

• चेहरे, होंठ, जीभ या गले या किसी अन्य अवयव मे सूजन

Anxiety एंजायटी

Available Brands Of trypsin bromelain rutoside trihydrate tablets uses in hindi (बाजार मे मौजुद ट्रिप्सिन, कीमोट्रिप्सिन, ब्रोमेलीन, रुटोसाईड टॅबलेट और उनकी किंमत)

Tablet NameMRP
Chymoral-BR Tablet225/-RS
Kinetozyme Tablet108/-RS
Lymed Tablet195/-RS
Soluzyme Tablet178/-RS
Chymogram Forte Tablet164/-RS
Available Brands Of Trypsin Chymotrypsin, Bromelin & Rutoside Tablets In Hindi

ट्रिप्सिन, कीमोट्रिप्सिन, ब्रोमेलीन और रुटोसाईड   का उपयोग कीन कीन बिमारीयों मे किया जाता है ? trypsin bromelain rutoside trihydrate tablets uses in hindi

  • दर्द से राहत
  • एडिमा का प्रबंधन 
  • घाव भरने को बढ़ावा देने के लिए 
  • चोट और सर्जरी के घावों से जुड़े दर्द और सूजन का प्रबंधन 
  • मांसपेशियों और जोड़ों को प्रभावित करने वाले अपक्षयी और भड़काऊ स्थितियों से राहत.
Unienzyme Tablet Uses In Hindicetirizine tablet uses in hindiChia seeds in hindi
More Articles

ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन से जूडे कुछ सवाल और जवाब (FAQ regarding trypsin chymotrypsin tablet uses in hindi)

1. क्या मुझे अपने आहार के माध्यम से कीमोट्रिप्सिन मिल सकता है?

कीमोट्रिप्सिन जानवरों के अग्न्याशय (मवेशी सहित) में पाया जाता है,अन्य प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम (जैसे ब्रोमेलैन और पैपैन) अधिक सुलभ स्रोतों में पाए जाते हैं, जिनमें ताजे फल और किण्वित खाद्य पदार्थ शामिल हैं:

  • 1.पपीता
  • 2.अनन्नास
  • 3.अदरक
  • 4.दही
  • 5.किवी फ्रुट


2.ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन के बीच अंतर क्या है?

दोनो ही प्रोटियोलिटिक एंजाइम है और इनका काम भी समान है मात्र जो प्राथमिक अंतर है वो यह है की ट्रिप्सिन लाइसिन और आर्जिनिन पर काम करता है और कीमोट्रिप्सिन फेनिलएलनिन, और टाइरोसिन अमिनो एसिड पर काम करता है.

3.ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन कीन बिमारीयों मे दिया जाता है ?

  • सुजन
  • फोड़े
  • फ्रॅक्चर
  • जोडो का दर्द
  • कमर दर्द

4.ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन के वेरीएन्ट कौन कौंसे है ?

  • ट्रिप्सिन  + कीमोट्रिप्सिन
  • ट्रिप्सिन + कीमोट्रिप्सिन + ब्रोमेलीन
  • ट्रिप्सिन + कीमोट्रिप्सिन + ब्रोमेलीन + रुटोसाईड टॅबलेट
  • ट्रिप्सिन + कीमोट्रिप्सिन + ब्रोमेलीन + डायक्लोफेनेक


5.क्या ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन की दवाई डॉक्टर को बिना बताये लेनी चाहीये ?

जी नहीं,ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन दवाई को बिना डॉक्टर के सलाह से ना ले.

6.प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम क्या होते है ?

एंजाइमों के समूह में से कोई भी प्रोटीन के लंबे श्रृंखलाबद्ध अणुओं को छोटे टुकड़ों (पेप्टाइड्स) और अंततः उनके घटकों, अमीनो एसिड में तोड़ देता है ऐसें एंजाइमों को प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम केहते है.


7.क्या यह दवाई बिना डॉक्टर के परची पर मिलती है ?

जी नहीं, यह दवाई केवल डॉक्टर के परची पर मिलती है.

8.क्या ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन एक हार्मोन है?

नहीं, ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन एक प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम है.


9.क्या मैं इस दवा की अनुशंसित खुराक से अधिक ले सकता हूं?

नहीं, अनुशंसित खुराक से अधिक लेने से उल्टी, नाराज़गी, अपचन, दस्त होणेबाकी संभावना होती है.


10.ट्रिप्सिन tablet और कीमोट्रिप्सिन की दवा को खाने से पेहले ले या खाने के बाद ?

ट्रिप्सिन और कीमोट्रिप्सिन की दवा को खाने के बाद ले जीससे पेट की समस्या ना हो

Chymoral Forte Tablet Uses | Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses | trypsin uses in hindi

तो दोस्तो इसी के साथ आजका हमारा यह ब्लॉग Trypsin Chymotrypsin Tablet uses in hindi खतम करते है मुझे उम्मीद है की मैने Trypsin Chymotrypsin Tablet से जूडे सारे सवालो के जवाब दिये होंगे, अगर फिर भी आप और कुछ जानना चाहते हो तो कृपया कमेंट करें

Continue Reading
Advertisement
9 Comments

Copyright © 2020 ArogyaOnline Team