Ash Gourd in Hindi
Ash Gourd in Hindi

ash gourd दक्षिणी एशियाइ देशो में पाया जाने वाला फल है जिसे, विंटर मेलन, वैक्स गौर्ड, सफेद कद्दू या चायनीज तरबूज के नाम से भी जाना जाता है। आज के इस लेख “ash gourd in hindi” में हम ईसकी पुरी जाणकारी लेने की कोशिष करेंगे।

ash gourd in hindi – ash gourd को हिंदी में क्या केहते है ?

Ash Gourd in Hindi - Benefits,Uses,Side Effects,Recipes
ash gourd in hindi

ash gourd को हिंदी में पेठा , सफेद पेठा या कुम्हड़ा कहा जाता है। इसकी सब्जी और मिठाईया बनाकर खाई जाती है। इसकी अधिकांश खेती भारत सहित दक्षिणी एशियाइ देशो में की जाती है।

ash gourd information in hindi – पेठा की जाणकारी हिंदी में

ash gourd दिखणे में तरबूज की तरह होता है एवं इसका आकार भी अंडकार होता है। यह वजन और आकार में तरबूज के समान होता है। ash gourd पुरी तरह तयार होणे के बाद ईसकी उपरी सतह पर पाउडर की राख के रंग का लेप तयार होता है, शायद इसी वजह से इसे अंग्रेज़ी में ash gourd केहते है।

ash gourd का स्वाद ककड़ी की याद दिलाता है, इसका ईस्तेमाल मुख्य तोर पर भारतीय और चिनी व्यंजनों में विशेष रूप से लोकप्रिय है।
माना जाता है की ash gourd एक अत्यंत औषधी फल है जीसके कइ फायदे होते है। इसका ईस्तेमाल सदियों से पारंपरिक चीनी और आयुर्वेदिक दवाईयो में उपयोग किया जाता है। 

यह लेख “ash gourd in hindi” पेठा की नवीनतम शोध की समीक्षा करने पर आधारित है, और इसमे क्या पोषक तत्व है और इससे क्या संभावित स्वास्थ्य लाभ हो सकते है ईसकी पुष्टी करता है।

और पढ़े:- monticope tablet uses in hindi – मोंटिकोप टैबलेट के उपयोग

Nutritional Profile Of Ash gourd vegetable in hindi – पेठा सब्जी का पोषण प्रोफ़ाइल

Ash Gourd में 97% पानी होता है और इसमे कैलोरी, फॅट्स, प्रोटीन और कार्ब्स की मात्रा बेहद कम होती है, लेकीन फिर भी,यह फाइबर में समृद्ध होता है और विभिन्न पोषक तत्वों की छोटी मात्रा प्रदान करता है।

100 ग्राम Ash Gourd में कितने पोषक तत्व होते है ?

कैलोरी13
प्रोटीन1 ग्राम से कम
कार्ब्स3 ग्राम
फाइबर3 ग्राम
फॅट्स1 ग्राम से कम
विटामिन सीदैनिक जरूरत का 14%
राइबोफ्लेविनदैनिक जरूरत का 8%
झिंकदैनिक जरूरत का 6%
Nutritional Profile Of Ash gourd vegetable in hindi

इसके अलावा Ash Gourd में कम मात्रा में लोहा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, तांबा, मैंगनीज, और साथ ही साथ में अन्य बी विटामिन भी होते हैं। लेकीन इनकी मात्रा दैनिक जरूरत की 3 प्रतिषद से भी कम होती है।

Ash Gourd में विटामिन सी के अलावा, फ्लेवोनोइड और कैरोटीन आच्छि मात्रा में होते है,यह दो एंटीऑक्सिडेंट आपके शरीर को कोशिका के क्षति सामर्थ्य देती है और टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग जैसी स्थितियों से बचाने में मदद करते हैं। Reference

सारांश

Ash Gourd में कैलोरी, वसा, कार्ब और प्रोटीन कम मात्रा में होता है।  लेकीन, यह फल फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध होता है जो माना जाता है कि यह आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और आपके शरीर को बीमारी से बचाने में मदद करता है।

Benefits Of Ash Gourd In Hindi – पेठा पाचन में सुधार हो सकता है

Ash Gourd in Hindi - Benefits,Uses,Side Effects,Recipes
Benefits Of Ash Gourd In Hindi

पेठा/Ash Gourd की कम कैलोरी, उच्च फाइबर और उच्च पानी की मात्रा आपके पाचन को बेहतर बनाने और शरीर के स्वस्थ वजन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। internal

और पढ़े : – जीरा के फायदे और उपयोग

उदाहरण के लिए, संशोधन से पता चलता है कि कम कैलोरी, और पानी-भरे ​​खाद्य पदार्थ जैसे कि पेठा/Ash Gourd से लोगों को वजन कम करने में मदद मिल सकती है। Reference

इसके अलावा, पेठा में मौजुद सोल्युबल फाइबर आच्छि मात्रा में होते है। इस प्रकार का फाइबर आपके आंत में एक जेल जैसा पदार्थ बनाता है, जो आपके पाचन को धीमा कर देता है और आपको भूक नहीं लगती और पेट भरा हुआ लगता है, जीससे आप कम भोजन खाते है और आपका वजन कम होने लगता है।

Ash Gourd की सब्जी में विशेष रूप से कम कार्ब्स होते है, जो लोग कम कार्ब के आहार का पालन करते है ऊन लोगों के लिए यह एक उपयुक्त सब्जी और फल हो सकता है।

सारांश

Ash Gourd की कम कैलोरी, कम कार्ब, उच्च पानी और उच्च फाइबर सामग्री पोषक तत्व का संयोजन प्रदान करती है जो पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकती है और आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में भी मदद कर सकती है।

Other potential benefits of ash gourd in hindi – पेठा के अन्य उपयोग हिंदी में

सदियों से पारंपरिक दवाईयो में विभिन्न बीमारियों का इलाज करने के लिए पेठा का ईस्तेमाल किया जा रहा है, पारंपरिक चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में ऐश लौकी का उपयोग विभिन्न रोगों में किया जाता है।

और पढ़े : – बेप्लेक्स फोर्ट टैबलेट

पेठा फल की प्रशंसा अक्सर इसके रेचक, मूत्रवर्धक और कामोद्दीपक गुणों के लिए की जाती है।  यह भी माना जाता है कि Ash Gourd / पेठा ऊर्जा के स्तर में भी वृद्धि प्रदान करता है। साथ में यह पाचन को सुचारू करने के लिए तेज दिमाग और बीमारी का जोखिम कम करने में लाभदायी होता है।

Scientific Evidence For Benefits Of Ash Gourd In Hindi

अल्सर को रोकने में सक्षम पेठा

जाणवरो पर किए गए संशोधन के अनुसार Ash Gourd के चूर्ण से पेट के अल्सर की उपस्थिति से मात करणे में सहायता प्राप्त हुई हो। Reference

पेठा सूजन,जलन एवं दर्द को कम कर सकता है – Ash Gourd Hindi

पशुओं पर किए गए अध्ययन से यह पता चलता है की, Ash Gourd का चूर्ण सूजन, जलन और दर्द को कम कर सकता है। जिसे कई पुरानी बीमारियों का मूल कारण माना जाता है। Reference

Ash Gourd/पेठा टाइप 2 मधुमेह रोगीयों को सुरक्षा प्रदान कर सकता है:

संशोधन एवं चिकित्सा से पता चलता है की पेठा रक्त शर्करा, ट्राइग्लिसराइड और इंसुलिन के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।

ऐंटी मायक्रोबियल गुणधर्म:  कुछ अध्ययनों से संकेत मिलता है कि Ash Gourd के अर्क कुछ बैक्टीरिया और कवक से बचा सकते हैं। Reference

हालांकि यह सब अध्ययन पेठा की क्षमता बताते है, लेकीन यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि इन सभी अध्ययनों में फल के बजाय अर्क का उपयोग किया गया है।

सारांश

Ash Gourd के अर्क को संभावित स्वास्थ्य लाभ की एक सरणी से जोड़ा गया है।  फिर भी, मजबूत निष्कर्ष निकालने से पहले मनुष्यों में अधिक अध्ययन की आवश्यकता है।

और पढ़े:- सूजन की गोली Trypsin Chymotrypsin Tablet Uses in Hindi

Beauty Benefits Of ash gourd in hindi

Ash Gourd बालों के विकास को बढ़ावा देता हैपेठा में मौजुद विटामिन और खनिजों की एक आच्छि मात्रा होती है जो बालों के स्ट्रैंड को पोषण और मजबूती प्रदान करती है।  इसके अलावा, इसे जब एक जेल के रूप में लागू किया जाता है, तो यह स्काल्प की परतों में गहराई से प्रवेश करता है और बालों के मूळ की सुरक्षा करता है, जिससे बालों की मोटाई और स्थिरता बनी रहती है।  यदि आप लंबे और मजबूत बाल प्राप्त करना चाहते हैं तो Ash Gourd एक आदर्श विकल्प है।

और पढे: 

स्वाभाविक रूप से त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है

Ash Gourd में विटामिन ई की आच्छि मात्रा होती है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। Ash Gourd का अर्क जब त्वचा के उत्तेजित और सूखे क्षेत्रों में लगाया जाता है तब ऐसें क्षेतों को यह मॉइस्चराइज़ करता है। जिससे यह त्वचा नरम और पूरी तरह से नमीयुक्त हो जाती है।

रूसी के इलाज के लिए पेठा/Ash Gourd For Dandruff In Hindi

Ash Gourd में शक्तिशाली रसायन होते हैं जो बालों में रूसी की तीव्रता को कम कर सकते हैं।  यह बालों की जड़ों तक पहूचता है और रुसी से छुटकारा दिलाता है, Ash Gourd का जेल बालों पर नियमित रूप से लागू करने से आपको रूसी से राहत मिल सकती है।

Ash Gourd Hair Gel In Hindi – पेठा का जेल कैसे बनाए ?

Ash Gourd in Hindi - Benefits,Uses,Side Effects,Recipes
ash gourd in hindi

सामग्री:

1 मध्यम आकार की Ash Gourd/पेठा/सफेद पेठा

जेल बनाने का तरीका:

सबसे पेहले Ash Gourd/पेठा का छिलका हटाकर उसे दो हिस्सों में काट लें।
अब, सभी बीजों को अच्छी तरह से अंदर से निकाल लें और केवल नरम आंतरिक भाग का उपयोग करें।
थोड़ा चिपचिपा जेल प्राप्त करने के लिए, बिना पाणी के एक मिक्सर में इसे ब्लेंड करें।
इसे स्काल्प और बालों पर लागू करें, और लगभग 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर एक सौम्य शैम्पू का उपयोग करके इसे धो लें।

और पढ़े:- anxiety meaning in hindi – एंजायटी क्या हैं ?

Ayurvedic Benefits Of Ash Gourd In Hindi – पेठा के आयुर्वेदिक फायदे हिंदी में

पुराने समय से, पेठा का उपयोग सब्जी, पत्ती, जड़ और रस के रूपों में किया जाता रहा है, क्योंकि इसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और दर्दनाशक गुणधर्म होते है। आयुर्वेदा में पेठा का टॉनिक बुखार, पीलिया, जैसे बीमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता था। इसके अलावा दिल की बिमारिया और हड्डियों के विकार के लिए भी Ash Gourd एक महत्वपूर्ण फल माना जाता है।

बुखार में पेठा – Relieve Fever With Ash Gourd In Hindi

Ash Gourd में फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते है, और इसके साथ शरीर के तापमान को कम करने के गुणधर्म भी होते है। तेज बुखार से पीड़ित व्यक्ति के शरीर पर Ash Gourd को यदी मलम की तरह लगाया जाता है तो उसका बुखार तुरंत कम हो जाता है। इसके अलावा पेठा इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन बनाए रखने में मदद करता है।

और पढ़े:- बुखार की गोली Nicip Plus tablet uses in hindi

पीलिया की दवा – Ash Gourd In Jaundice

Ash Gourd की पत्तियों में ककुर्बिटासिन नामक रसायन होता हैं, जो शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली और यकृत के कार्य को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं।  इसके अलावा, Ash Gourd की पत्तियों में विटामिन सी की उल्लेखनीय मात्रा भी होती है, जो पीलिया से पीड़ित लोगों में रक्षा कार्य और एंटीऑक्सीडेंट क्षमता को बढ़ाती है।  आयुर्वेदिक उपचार में पीलिया के इलाज के लिए धनिया के बीज के साथ-साथ पेठा के पत्तों को कुचलकर दिन में दो बार सेवन किया जाता है।

दिल की बीमारियों के उपचार में पेठा – Ash Gourd In Heart Diseases

पेठा/ Ash Gourd के चूर्ण को हृदय रोगों, अनियमित धड़कनों, सीने में दर्द, उच्च रक्तचाप और कोरोनरी हृदय रोग जैसी बीमारियों में उपयोगी माना जाता है। 

पारंपरिक आयुर्वेदिक चिकित्सा में, दिल की समस्याओं से पीड़ित लोगों को, रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देने और दिन की गतिविधियों की कठिनाइयों को कम करने के लिए, पेठा के अर्क की दो कप की खुराक दी जाती है।

बालों का झडणा रोकता है पेठा – Ash Gourd For Hair Fall 

पेठा का जेल गंभीर बालों के झड़ने की समस्या में अत्यंत लाभदायी होता है। एलोपेसिया की बिमारी में गंजे धब्बे पडते है और अत्यधिक बाल झडणे लागते है। ऐसें में Ash Gourd की जेल से इसका हल निकाला जाता है। Ash Gourd में मौजुद उच्च कैरोटीन की मात्रा इन कारकों को काउंटर करती है। और लगातार बालों के झड़ने को कम करती है और बालों की ताकत और चिकनाई बढ़ाती है।

अनिद्रा का उपाय – Ash Gourd For Insomnia In Hindi

पेठा के रस में प्रमुख विटामिन बी 6 पाइरिडोक्सिन मस्तिष्क के कार्यो को अधिक सरळ बनाती है और तंत्रिका के कार्य भी बिना किसीं रुकावट के चालू रकती है। इसलिए, अनिद्रा या नींद की गंभीर कमी के मामलों में, एक गिलास Ash Gourd का रस न्यूरोट्रांसमीटर की गतिविधि को कम करता है और नींद को बढ़ावा देता है।

किडनी की कार्यक्षमता को बढावा

Ash Gourd में मौजुद पानी गर्म शरीर को ठंडक देती है, जिससे लीवर और किडनी के आंतरिक ऊतकों में संतुलन बना रहता है। 
यह मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई) के इलाज में भी उपयोगी होता है और गुर्दे की पथरी को समाप्त करता है, इसके अलावा गुर्दे की प्रक्रियाओं को ठीक करता है, गुर्दे की प्रक्रियाओं को नियंत्रित करता है।

एसिडिटी का रामबाण इलाज – Ash Gourd In Acidity

पेठा में मौजुद एंटीऑक्सीडेंट क्यूबर्बिटासिन आंतों में जहरीले मुक्त कणों से छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा, आंतरिक रूप से क्षारीय वनस्पति होने के नाते, यह पेट में अतिरिक्त अम्लता को बेअसर करता है, जिससे नाराज़गी, अपच, सूजन और पाचन को बढ़ावा देने से तुरंत राहत मिलती है।

गुणकारी एंटीऑक्सीडेंट – क्यूबर्बिटासिन की प्रचुर मात्रा में, राख लौकी आंतों में जहरीले मुक्त कणों से छुटकारा दिलाती है और आंत के कल्याण के लिए बहुत फायदेमंद है।  इसके अलावा, आंतरिक रूप से क्षारीय वनस्पति होने के नाते, यह पेट में अतिरिक्त अम्लता को बेअसर करता है, जिससे एसीडीटी, अपचन, पेट की गैस से तुरंत राहत मिलती है।

और पढे – Aciditi Home Remedies In Marathi

और पढे – rantac 150 tablet uses in hindi – रैनटैक 150 टैबलेट का उपयोग

Agra Sweet Petha Ash Gourd Recipe In Hindi

Ash Gourd in Hindi - Benefits,Uses,Side Effects,Recipes
Agra Sweet Petha Ash Gourd Recipe In Hindi

सामग्री:

1 मध्यम आकार का पेठा
½ चम्मच चूना पत्थर / चूना
1 कप चीनी
3 इलाइची की फली
केसर 
कुछ चम्मच पानी

तरीका:

Time needed: 30 minutes.

Agra Sweet Petha Ash Gourd Recipe

  1. Cleaning & Cutting

    सबसे पहले, पेठा को साफ करके उपरी परत निकालके छोटे छोटे तुकडो में काटे।

  2. Washing

    एक बड़े कटोरे में 4 कप पानी लें और उसमें चूना पत्थर घुले।

  3. Mixing

    अब कटी पेठा/Ash Gourd इस पाणी में डालें और अच्छी तरह से धो लें।

  4. Boiling

    एक कटोरे में 4 कप पाणी लें और उबाले और इसमे धिरे धिरे पेठा के तुकडे डाले और हिलाते रहीए।

  5. Boiling Time

    12 -15 मिनट तक उबालें।

  6. Sweet Preparation

    इसके अलावा, एक बड़ी कड़ाही में 1½ कप चीनी, 3 फली इलायची, थोड़े से केसर के टुकड़े और चुटकी भर केसर रंग के लिए लें।

  7. Adding Sugar

    इसमे एक कप पानी डालें और चीनी को अच्छी तरह मिलाएँ।

  8. Adding Ash Gourd Pieces

    चीनी घुल जाने पर, पकी हुई Ash Gourd को डालें।

  9. Stiring

    इसे अच्छी तरह से हिलाए, और 10 मिनट के लिए उबाल लें।

  10. Cooling

    अब एक प्लेट या एक तार की जाली में पेठे को कम से कम 12 घंटे के लिए पूरी तरह से ठंडा होने के लिए रखें।

  11. Serving

    अंत में, मीठे आगरा पेठे को परोसें या एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें और मोठे का आनंद लें।

Ash Gourd Side Effects In Hindi

  • हमेशा अपने स्थानीय बाजार या स्टोर से केवल ताजा Ash Gourd / पेठा खरीदें। क्योंकी इसमे कुछ संक्रामक एजेंट और कीटनाशक के अवशेष पुराने स्टॉक में मौजूद हो सकते हैं।
  • Ash Gourd में कई महत्वपूर्ण ट्रेस खनिज होते हैं।  इसलिए, इसका अत्यधिक सेवन हानिकारक है, क्योंकि इससे सिस्टम में जमा होने वाले इन धातु तत्वों के विषाक्त स्तर हो सकते हैं।
  • शरीर के उच्च तापमान में गंभीर या बुखार में Ash Gourd न खाए क्योंकी इससे उपचार प्रक्रिया धीमी हो सकती है।

दिन की शुरुआत पेठा के रस से क्यों करें ?

Ash Gourd in Hindi - Benefits,Uses,Side Effects,Recipes
ash gourd juice in hindi

Ash Gourd Juice एक बेहतरीन डिटॉक्सीफाइंग एजेंट है, इसिलिए इसका सुबह जल्दी सेवन किया जाना चाहीए। यह रस पेट के सभी विषाक्त पदार्थों, कीटाणुओं और संदूषण को अवशोषित कर सकता है जो एक दिन के दौरान शरीर में जमा होते हैं।

यह हमारे सिस्टम से अपशिष्ट को बाहर निकालने के लिए उपयोगी होता है। इसमे कैल्शियम, लोहा, फॉस्फोरस के साथ विटामिन सी भी शामिल होता हैं। यह रस कब्ज से पीड़ित लोगों के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि यह पाचन प्रक्रिया बढकर  आपको आराम देता है।

नारियल का दूध, निमू का रस और आंवले के रस को safed petha के साथ लिया जाता है। 

Ash Gourd Juice Recipe Video

Ash Gourd Juice Recipe Video

अस्थमा के इलाज के लिए पेठा / Ash Gourd In Asthama

ash gourd/ पेठा की जड़ लें और इसे पीसकर इसका पाउडर बना लें। अस्थमा को ठीक करने के लिए इसके ¼ चम्मच पाउडर को गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। अस्थमा के रोगी अस्थमा अटॅक से बचने के लिए इसका रोज सेवन करें।

और पढ़े:- अस्थमा की दवा monticope tablet uses in hindi

नाक से खून बहने में पेठा – Ash Gourd use in nose bleeding

अगर किसी व्यक्ति को नाक से खून बेहने की समस्या हो तो Ash Gourd का juice अत्यंत लाभदायी होता है। नाक से निकलने वाले रक्तस्राव से राहत पाने के लिए रोगी इसके रस का सेवन कर सकते है।

1.ash gourd in marathi name ?

ash gourd को मराठी में कुवाला / कुव्हाळा केहते है।

2. is ash gourd & winter melon same in hindi?

जी हां, पेठा को ही विंटर मेलन केहते है।

3.Types Of Ash Gourd – पेठा के प्रकार क्या होते है ?

पेठा के प्रकार नीचे दिए गए है:
लौकि, दुधी
करेला, कारला
पडवळ,पालो,घिआ तोरइ
चचिंदा
सफेद पेठा
तोंडली, कुंदरु
कटवल
टिंडा
काकडी, ककडी

4.Price of ash gourd in hindi पेठा की किमत क्या होती है?

Ash Gourd की किमत 120 से 150 के बीच होती है, इतनी किमत में एक किलो के उपर का पेठा आपको बाजारों में मिल सकता है।

5.पेठा का जूस पीने के फायदे ?

पेठा जूस पीने से पेठ से सारे विषाणू और विषाक्त पदार्थ नष्ट हो जाते है। इसके अलावा ये वजन घाटाने में भी मदद करता है। दिल की बिमारिया , जिगर की बिमारियो का खतरा कम हो जाता है।

ciprofloxacin tablet uses in hindi – सिप्रोफ्लोक्सासिन टैबलेट का उपयोग
ciprofloxacin tablet uses in hindi: सिप्रोफ्लोक्सासिन टैबलेट एक क्विनोलोन वर्ग की एंटीबायोटिक …
Supradyn tablet uses in hindi – सुप्राडिन टैबलेट किस काम में आता है
Supradyn tablet uses in hindi सुप्राडिन टैबलेट पीरामल कंपनी द्वारा निर्मित मल्टीविटामिन …
जिंकोविट सिरप के फायदे – zincovit syrup uses in hindi
सिरप के फायदे गर्भावस्था और स्तनपान में विटामिन और जरुरी मिनरल्स की …
Disprin tablet uses in hindi – डिस्प्रिन टैबलेट का उपयोग
Disprin tablet uses in hindi: डिस्प्रिन टैबलेट रेकिट बेंकिजर कंपनी द्वारा निर्मित …

2 COMMENTS

Leave a Reply