Health Benefits of Nutmeg in Hindi | Jaifal ke Fayde

5
2062
nutmeg in hindi
nutmeg in hindi

Nutmeg in Hindi – जायफल की जाणकारी ?

जायफल (Nutmeg) एक इंडोनेशियन मूल का पौधा है, जिसे मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस नामक पेड के बीज से पाया जाता है। इसका ईस्तेमाल मुख्यतोर पे भारतीय सब्जीयों में मसाले के रूप में किया जाता है। इसके अलावा इसे खाने के पान में भी ईस्तेमाल किया जाता है।

यद्यपि इसे आमतौर पर अपने स्वाद के लिए उपयोग किया जाता है, लेकीन इसके अनेक स्वास्थ्य लाभ होते है। इसमे बीमारी को रोकने के गुणधर्म होते है। ऐसें ही कुछ जायफल के फायदे नीचे दिए गए है।

Health Benefits Of Nutmeg In Hindi – जायफल खाने के फायदे

Health Benefits of Nutmeg in Hindi | Jaifal ke Fayde

1. एंटीऑक्सीडेंट का भरपुर स्रोत – Antioxidant Nutmeg

Nutmeg आकार में छोटे होने के बावजूद भी इसमें भारी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजुद होता है। एंटीऑक्सिडेंट आपकी कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। 

एंटीऑक्सीडेंट के स्वास्थ को फायदे:

  • दिल की बिमारियो का खतरा कम करते है।
  • कॅन्सर को होने से रोकते है।
  • मधुमेह को नियंतत्रित रखते है।
  • तेज दृष्टी बनाए रखते है।
  • ऑक्सिडीटीव्ह तणाव को कम करते है।

और पढ़िए : zincovit tablet uses in hindi

Advertisement

2. सूजनरोधी और दर्दनाशक गुणधर्म – Anti-inflamatory nutmeg in hindi

सुजन और दर्द पुरानी स्वास्थ्य स्थितियों से जुड़ी होती है,जैसे हृदय रोग, मधुमेह और गठिया की बिमारिया।

जायफल सूजनरोधी और दर्दनाशक गुणधर्म से समृद्ध होते है, Nutmeg में मोनोटेरेपेन्स, सेबिनीन, टेरपिनोल और पीनिन जैसे सूजनरोधी दवा होती है। ये आपके शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं और सूजन की स्थिति वाले लोगों को लाभ पहुंचा सकते हैं। Reference

3.यौन गतिविधि को बढ़ावा देना – jaifal ke fayde

कुछ अध्ययन से पता चलता है कि जायफल सेक्स ड्राइव और क्षमता को बढ़ा सकता है।

पारंपरिक चिकित्सा में, जैसे कि दक्षिण एशिया में यूनानी चिकित्सा पद्धति में Nutmeg / जायफल का उपयोग यौन विकारों के इलाज के लिए किया जाता है, हालांकि, मनुष्यों में Nutmeg का यौन स्वास्थ्य पर इसके प्रभावों रिसर्च नहीं हुआ है। इसलीए जायफल के यौन गतिविधि को बढ़ावा देने के फायदे को मानना अभि उचित नहीं होगा।Reference

4. जीवाणुरोधी जायफल – Antimicrobial Nutmeg

Nutmeg / जायफल में जीवाणुरोधी गुणधर्म होने के कारण यह हानिकारक बैक्टीरिया पर प्रभावी होता है।
स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन्स और एग्रीगैटिबैक्टेरिन एक्टिनोमाइसेटेमकोमिटन्स जैसे बैक्टीरिया दातों और मसूड़ों की बीमारी का कारण बन सकते हैं।

Advertisement
Advertisement

एक अध्ययन में यह पाया गया है कि जायफल के अर्क ने (nutmeg powder in hindi) इन और अन्य जीवाणुओं के खिलाफ शक्तिशाली जीवाणुरोधी प्रभाव का प्रदर्शन किया है। Reference

जायफल के अन्य फायदे – Other Health Benefits Of Nutmeg In Hindi

Health Benefits of Nutmeg in Hindi | Jaifal ke Fayde
Nutmeg In Hindi

1.मूड ठीक करने में जायफल

कइ सारे अध्ययनों में पाया गया है कि जायफल Nutmeg मूड बढ़ा सकता है। लेकीन यह निर्धारित करने के लिए मानवी अध्ययन की आवश्यकता है। Reference

2.रक्त शर्करा नियंत्रण

जाणवरो पर कीए गए अध्ययन और संशोधन से यह पता चलता है की अधिक मात्रा में nutmeg powder in hindi की खुराक से रक्त शर्करा कम होती है।

हालाकी, इसके इस प्रभावी उपयोग के लीए मानवी अध्ययन की खास जरूरत है।

Nutritional Value Of Nutmeg In Hindi {Source USADA}

Amount Per 100 Grams% Daily Value*
कैलोरी525
कुल वसा 36 ग्राम 55%
सोडियम 16 मिलीग्राम 0%
पोटेशियम 350 मिलीग्राम10%
कुल कार्बोहाइड्रेट 49 ग्राम16%
आहार फाइबर 21 ग्राम 84%
प्रोटीन 6 ग्राम12%
शक़्क़र 28 ग्राम
Nutritional Value Of Nutmeg In Hindi

Vitamin Contents Of Nutmeg In Hindi

Amount Per 100 Grams % Daily Value*
विटामिन ए2%
विटामिन सी5%
कैल्शियम18%
लोहा16%
विटामिन डी0%
विटामिन बी -610%
कोबालमिन0%
मैगनीशियम45%
Vitamin Contents Of Nutmeg In Hindi

अनिद्रा के इलाज में जायफल और शहद के फायदे ( Nutmeg In Insomnia In Hindi )

जायफल में शरीर और दिमाग को शांत करने की क्षमता होती है , इसके लिए Nutmeg Powder को थोडी मात्रा में खाना होगा। विभिन्न प्राचीन औषधीय प्रथाएं इसे अपनी नींद उत्प्रेरण और डी-स्ट्रेसिंग प्रभावों के लिए श्रेय देती हैं।

Advertisement

आयुर्वेद के अनुसार अनिद्रा में, आपको एक चुटकी Nutmeg Powder और शहद को एक गिलास गर्म दूध में मिलाकर रात को सोने से पहले पीना चाहिए।  इसमे आप कुछ बादाम और एक चुटकी इलायची भी मिला सकते हैं।

पाचन में जायफल और दूध के फायदे (Nutmeg Helps In Digestion In Hindi)

जायफल में कुछ अत्यावश्यक नैसर्गिक तेल होते है जो पाचन तंत्र को सुधारित करने में मदद करते है। तो अगर आप दस्त, कब्ज, पेट की गैस जैसे पाचन संबंधी समस्याओं से पीड़ित हैं तो Jayfal का ईस्तेमाल करें।

अपने सूप या खाने में जायफल की एक चुटकी पावडर डाले लें (nutmeg powder in hindi) यह पाचन एंजाइमों के स्राव में मदद करेगा, राहत दिलाएगा ।जबकि जायफल में मौजुद फाइबर मल त्याग में मदद करेगी और दस्त से छूटकारा दिलाती है।  यह सिस्टम से अत्यधिक गैस को निकालने में भी मदद करता है।

पाचन संबंधी बिमारियो के लिए एक ग्लास दूध में एक चमच जायफल को घोलकर पीने से आपको राहत मिलेगी।

सुंदर त्वचा के लिए जायफल का नुस्का – Home Remedy For Gorgeous Skin In Hindi

Jayfal एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी होने के अलावा ब्लैकहेड्स को दूर करने में सक्षम होता है, इसलीए स्किनकेयर के रुटीन में Jayfal को जोड़ना सही होगा।

Advertisement

Nutmeg Face Mask In Hindi – जायफल का फेस मास्क कैसे बनाए

  1. सबसे पेहले जायफल का अर्क  (Nutmeg Powder In Hindi) और शहद को समान हिस्से में लेकर मिलाए। 
  2. इस मिश्रण को चेहरे पर लगाए और 20 मिनट तक छोड दे। 
  3. गरम पाणी से मूह धो लें।

इसके अलावा आप शहद की जगह दूध की कुछ बुंदे ईस्तेमाल करें और त्वचा में मालिश करें। इससे आपके मूहासे और ब्लैकहेड्स तुरंत निकल जाते है। हफ्ते में दो बार इसका प्रयोग करें।

Nutmeg Powder In Hindi

Health Benefits of Nutmeg in Hindi | Jaifal ke Fayde
Nutmeg Powder In Hindi

Ground Nutmeg Powder को भारत में Jaiphal पाउडर के नाम से जाना जाता है।  इसका खांसी, अवसाद रोधी,पाचन और पेट संबंधी समस्याओं को ठीक करने में किया जाता है।  जायफल का उपयोग कई व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है।

Ingredients for Nutmeg Powder In Hindi:

Time needed: 15 minutes.

साबुत जायफल के बीज (Nutmeg Seeds) – आपको जितनि पाउडर चाहीए उतने जायफल लिजीए.

  1. Step 1

    जायफल के बीजों को थोडा सा फ्राय करें और कमरे के तापमान पर सुखा लें।  

    Advertisement
  2. Step 2

    सुखें जायफल के बीजों को पीस लें और इसका पाउडर बना लें।

  3. Step 3

    अब जायफल पाउडर इस्तेमाल करने के लिए तैयार है।

  4. Step 4

    नोट – जायफल पाउडर को सूखे एयरटाइट जार में स्टोर करें।

और पढ़े: खांसी का इलाज घरेलू

Benefits of Nutmeg Powder in Hindi – जायफल पाउडर के फायदे

  • सभी प्रकार के व्यंजनो में मसाला के रूप में ईस्तेमाल।
  • दस्त व मुहांसों में भी फायदेमंद जायफल पाउडर : Nutmeg Powder पाणी में मिलाइये और इस पेस्ट को चेहरे पर लगाईए।
  • पाचन तंत्र को बढावा देना और पेट के लिए अच्छा: एक चमच Nutmeg Powder एक ग्लास पाणी में डालकर पीने से पेट संबंधी सभी प्रकार के विकरो से राहत मिलती है।
  • सर्दी एवं खांसी में असरदार जायफल: सर्दी होने पर एक चमच जायफल की पाउडर चाटने से सर्दी एवं खांसी में राहत मिलती है।
  • सरदर्द में असरदार: जायफल अपने दर्दनाशक प्रभावो के लिए जानी जाती है, सरदर्द में Jayfal Powder को हलका पाणी में डाले और पीए इससे आपका सरदर्द तुरंत कम हो जाएगा।
  • भूख बढाने के लिए जायफल: यदी आपको भूख कम लगति है तो आप एक चुटकी रोज Nutmeg Powder खा लिजीए जीससे आपको निश्चित रूप से भूख लग जाएगी।
  • फटी एड़ियों पर रामबाण उपाय: जि हा, फटी एड़ियों में जायफल पाउडर का लेप अत्यंत औषधी होता है। आप इसे 15 से 20 दिन फटी एड़ियों पर लगाईए और स्वस्थ एड़िया पायीये।

और पढे – Health Benefits of kalonji in marathi

Advertisement

Side Effects Of Nutmeg In Hindi

यदी जायफल को नियंत्रित मात्रा में लिया जाए तो यह एकदम सुरक्षित और सेहतमंद होता है, लेकीन इसे आधीक मात्रा में लेने से इसके कइ सारे दुष्परिणाम हो सकते है:

120 मिलीग्राम या उससे अधिक खुराक का दीर्घकालिक उपयोग आपको मतिभ्रम और अन्य मानसिक दुष्प्रभावों से जोड़ा गया है।

इसके अलावा नीचे दि गए दुष्प्रभाव सामान्य तौर पर दिखाई देते है:

  • उलटी (उलटी की दवा – Rantac 150 Tablet)
  • मलती (मलती की दवा Pan D Tablet)
  • मूह में सुखापन
  • चक्कर आना
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • मतिभ्रम

स्थनपान और गर्भावस्था में जायफल (is nutmeg safe in pregnency)

स्थनपान और गर्भावस्था में जायफल का सेवन न करने की सूचना दि जाती है, इससे आपको गर्भपात या जन्म दोष की समस्या का सामना करना पड सकता है। 

Ginger & Nutmeg Tea Recipe In Hindi – सर्दीयो में बनाये मस्त अद्रक और जायफल की चाय

Health Benefits of Nutmeg in Hindi | Jaifal ke Fayde

जायफल और अदरक की चाय एक साथ ठंड के मौसम के लिए एक बेहतरीन पर्याय है। जी हा दोस्तो, सर्दीयो में इस चाय का स्वाद और भी बढ जाता है। मतलब में क्या बोलू अब, आप खुद पीओ और जान जाओ।

Advertisement

इस चाय का स्वाद कोला और अदरक की तरह होता है, और अदरक फेफड़ों और बंद नाक को खोलता है। इसके अलावा इस चाय की यह खासियत है की अदरक सर्दी के खिलाफ विशेष रूप से प्रभावी होता है, और जायफल शरीर को गर्म करने के लिए बेहतर होता है।

सामग्री

  • 1 चम्मच जायफल का पाउडर
  • 1 चम्मच अदरक का पाउडर या अदरक के 4-5 बड़े और पतले तुकडे
  • 3 चम्मच शहद
  • 2 कप पाणी
  1. सबसे पेहले पाणी को चाय के पतेले में डाले और धीमी आंच पर रखें।
  2. अब पाणी में 1 चम्मच जायफल का पाउडर, और 1 चम्मच अदरक डाले और इसे उबाले।
  3. अच्छि तरह उबालने के बाद गैस बंद करें और इसमे शहद डालकर गरमा गरम पीए।
  4. अद्रक और जायफल की चाय के फायदे:
  5. अद्रक और जायफल दोनो ही शरीर में रक्त संचार चालू रखते है और इसी वजह से सर्दी में यह चाय उपयोगी होती है।
  6. इसमे मौजुद जिवाणू रोधी गुणधर्म बैक्टरीयल संक्रमन को रोखते है।

यदि आप ताजे अदरक का उपयोग करते हैं, तो आसव के दौरान उससे अर्क को सुधारने के लिए अदरक को जितना संभव हो उतना पतला पतला करें।

नोट/टीप

Nutmeg Names In Other Languages – जायफल को अन्य भाषा में क्या केहते है।

  • Nutmeg Hindi Name – जायफल
  • Nutmeg Urdu Name – Jauzbuwa, Jaiphal
  • Nutmeg Telugu Name – जजी काया (జాజికాయ)
  • Nutmeg Tamil Name – जटिक्काय (ஜாதிக்காய்)
  • Nutmeg Bengali Name – जायफल, जावित्री (জায়ফল)
  • Nutmeg Kannada name – जयिकाई (ಜಾಯಿಕಾಯಿ)
  • Nutmeg Malayalam name – जथिका (ജാതിക്ക)
  • Nutmeg Marathi Name – Marathi (जायफल)

जायफल का इस्तेमाल हिंदी में कैसे करें ? How to use Nutmeg In Hindi ?

दैनिक उपयोग के लिए, वयस्कों के लिए, बस 250 – 500 मिलीग्राम (एक – दो छोटे चुटकी) शहद या घी के साथ सुबह में नाष्टे या भोजन के बाद लिया जा सकता है। 

FAQs Of Nutmeg In Hindi – जायफल से जूडे सवाल और जवाब

जायफल का क्या उपयोग है?

जायफल एक एक इंडोनेशियन मूल का पौधा है, जिसे मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस नामक पेड के बीज से पाया जाता है। इसका ईस्तेमाल मुख्यतोर पे भारतीय सब्जीयों में मसाले के रूप में किया जाता है। इसके अलावा इसके कइ सारे स्वास्थ को फायदे है जैसे की, मूहासो का इलाज, दांत दर्द का इलाज, पाचन शक्ती बढाना, अनिद्रा का उपाय, ह्रदयरोगों में लाभदायी।

Advertisement
सुपारी और जायफल में क्या अंतर है?

सुपारी और जायफल दोनो ही दिखणे में समान होते है सुपारी को अंग्रेज़ी में अरिका नट केहते है और जायफल को नटमेग के नाम से जाना जाता है। जायफल का ईस्तेमाल व्यंजनो में मसाले के तौर पर किया जाता है और सुपारी का ईस्तेमाल खाने वाले पान में किया जाता है। इन दोनो की छवि नीचे दि गइ है उससे आपको सुपारी और जायफल का अंतर पता चल जाएगा।

जायफल कितने रुपए किलो है?

जायफल की फिलहाल औसातम  किमत कुछ 350 से 450 के बीच है। यदी आप ब्रँडेड Nutmeg Powder खरीदते हो तो आपको यह 1000 से 2000 रुपये प्रति किग्रा की औसत से पडेगी।

छोटे बच्चों को जायफल कैसे देते हैं?

छोटे बच्चो को जायफल खिलाना एक कठीण कार्य होता है। इसलीए, जायफल की सबसे पेहले पाउडर बनाये और उसको एक चमच पाणी में थोडा जायफल पाउडर डालके पेस्ट बनाकर खिलाए। यदी आप इसका टेस्ट अच्छा करना चाहते हो तो इसमे आप शहद मिलाकर बच्चो को खिला सकते हो।

बच्चों को जायफल के फायदे बताइए

अच्छि निंद के लिए बच्चो को एक चुटकी जायफल की पाउडर शहद या दूध में मिलाकर दिजीए।
बच्चो को पेट से जुडी समस्या अधिक होती है, जैसी की दस्त इसलीए नियमित थोडा जायफल के सेवन से राहत मिल सकती है।
बच्चो की सर्दी और खांसी में जायफल पाउडर राहत दिलाती है।

जायफल को चेहरे पर कैसे लगाएं?

मूहासे और ब्लॅकहेड्स से छूटकारा पाने के लिए जायफल पाउडर लें और इसको पानी में मिला लिजीए इसके अलावा आप इसमे हळदी और दूध भी डाल सकते है। इस मिश्रण को हफ्ते में 3 बार लगाए और 15 मिनट बाद अच्छि तरह सुखने के बाद इसे गुनगुना पाणी से धो लिजीए।

Advertisement
जायफल का तेल कैसे बनता है?

जायफल का तेल मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस नामक पेड के बीज से पाया जाता है, जिसे हम जायफल या Nutmeg केहते है। जायफल पर कइ प्रक्रियो द्वारा तेल निकला जाता है, जीसमे शामिल है, एक्सट्रेकशन, डीस्तीलेशन और फिल्टर।

जायफल कितने प्रकार का होता है?

जायफल एक फ्रेग्रेंस मिरिस्टिका प्रजाति का वृक्ष है इस प्रजाती की लगभग ७५ जातियाँ हैं, जो भारत, श्रीलंका, चीन और भारत के विभिन्न अंगो में पाई जाती है।

तो इसी के साथ हमारा आज का ब्लॉग Nutmeg in Hindi यही पर खत्म होता है यदि आपको Jaifal ke fayde बारे में कुछ शंका या सवाल हो तो कमेंट में जरूर पूछिए

5 COMMENTS

Leave a Reply