Fitness Tips In HindiNews In Hindi

गुर्दे की पथरी और मूत्रमार्ग के संक्रमण से छुटकारा और इन समस्याओं को भी करेगा दूर जानिए हैरान कराने वाले गन्ने के ज्यूस के फायदे

गन्ने के रस में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं जिनमें शामिल हैं: पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, थायमिन, राइबोफ्लेविन और कई अमीनो एसिड.

एक गिलास गन्ने का रस (250 मिली) में 180 कैलोरी, 30 ग्राम चीनी होती है, और आहार फाइबर में भी उच्च होता है. 

गन्ने का रस न सिर्फ आपको ठंडक पहुंचाता है बल्कि आपके शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाता है.  प्राकृतिक रूप से गन्ने का रस हरे रंग का होता है और स्वाद में मीठा और स्वादिष्ट होता है.

गन्ने का रस गन्ने के पौधे से प्राप्त किया जाता है, जीसका साइंटिफिक नाम Saccharum Officinarum है. इसमे उच्च मात्रा में चीनी होती है इसकारण गन्ने को मिठा स्वाद आता है.

गन्ने का रस ठंडा पेय के रूप में परोसा जाता है, इसमे नींबू के पानी के साथ स्वाद या पुदीना, अदरक और नमक के साथ मिलाया जाता है.

ganne ke juice ke fayde

भारतीय पारंपरिक चिकित्सा के अनुसार गन्ने का रस को अत्यंत पौष्टिक और स्वस्थ माना जाता है. फ्लेवोनोइड्स और पॉलीफेनोलिक यौगिकों जैसे एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति समग्र स्वास्थ्य को बढ़ाती है और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करती है.

गन्ने के रस में मूत्रवर्धक गुण होते है जीससे आपको अधिक पेशाब लगता है. इसिलिए इसे मूत्र मार्ग के संक्रमण, पेशाब में जलन और गुर्दे की पथरी जैसी मूत्रमार्ग की बिमारीयों में फायदेमंद माना गया है.

ईसके मूत्रवर्धक गुण इसे संक्रमण को दूर भगाने के लिए एक आवश्यक घटक बनाता है.  गन्ने का रस पीने से यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को रोकने में मदद मिलती है, खासकर तब जब आपको यूरिन पास करते समय जलन का अनुभव हो.

गन्ने का रस पीने का सबसे अच्छा तरीका है कि 2/3 कप गन्ने के रस में 1 चम्मच नीबू का रस, अदरक का रस और नारियल पानी (1/3 कप) मिलाएं.  यह रस स्वतंत्र रूप से पेशाब करने में मदद करता है और गुर्दे की अच्छी कार्यप्रणाली को बनाए रखता है.

Health Benefits of Sugarcane Juice

1.इम्युनिटी बूस्टर

गन्ने के रस में एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी की मात्रा प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में सहायक होती है.  गन्ने का रस पाचन विकार, यकृत रोग, श्वसन संक्रमण से लड़ता है और सूजन को कम करता है. शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट शरीर में बिलीरुबिन के स्तर के स्राव को भी बेअसर कर सकते हैं.

2.पाचन में सुधार

गन्ने का रस पीने से पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है.  पोटेशियम की उपस्थिति के साथ, यह सिस्टम को अच्छे स्वास्थ में रखने में मदद करता है. इसके अलावा यह पेट के संक्रमण को रोकता है और कब्ज की समस्या के इलाज में बहुत मददगार होता है.

3.पीलिया के लक्षण कम करता है

पारंपरिक आयुर्वेद के अनुसार, गन्ने का रस आपके लीवर को मजबूत करने और पीलिया के लिए एक सिद्ध उपाय है.  गन्ने के रस में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट लीवर को संक्रमण से बचाते हैं और बिलीरुबिन के स्तर को नियंत्रण में रखते हैं.  गन्ने का रस आपके शरीर को खोए हुए प्रोटीन और पोषक तत्वों से भर देता है जो किसी भी तरह की बीमारी से जल्दी ठीक होने के लिए आवश्यक होते हैं.

4.ऊर्जा का भंडार

ऊर्जा का भंडार
ऊर्जा का भंडार

गन्ने में सुक्रोज की प्राकृतिक आपूर्ति के कारण गन्ने का रस आपके शरीर को सही मात्रा में ऊर्जा देती है जो आपके दिन की शुरुआत कर सकती है और खोए हुए शर्करा के स्तर को वापस पाने के लिए आपके शरीर में ग्लूकोज की रिहाई को सामान्य कर सकती है.  यह शरीर को फिर से हाइड्रेट करने और थकान को दूर करने के लिए भी सबसे अच्छा विकल्प है.

Leave a Reply