पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज के कारण, लक्षण, उपाय

1
430
पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज
पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज
Advertisements

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (पीआईडी) महिला प्रजनन अंगों का संक्रमण होता है.  यह अक्सर तब होता है जब यौन संचारित बैक्टीरिया आपकी योनि से आपके गर्भाशय, फैलोपियन ट्यूब या अंडाशय में फैल जाते हैं.

पैल्विक सूजन की बीमारी के लक्षण और चिन्हं सूक्ष्म और हल्के हो सकते हैं.  कुछ महिलाओं को किसी भी लक्षण या चिन्हं का अनुभव भी नहीं होता है. नतीजतन, आपको तब तक इसका एहसास नहीं हो सकता जब तक आपको गर्भवती होने में परेशानी न हो या आपको तीव्र श्रोणि दर्द न हो.

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज के लक्षण

पैल्विक सूजन की बीमारी के लक्षण और चिन्हं हल्के और पहचानने में मुश्किल हो सकते हैं.  कुछ महिलाओं में कोई लक्षण या चिन्हं नहीं होते हैं. लेकीन जब पीआईडी ​​​​के लक्षण मौजूद होते हैं, तो उनमें अक्सर शामिल होते हैं:

दर्द – हल्के से लेकर गंभीर दर्द – आपके पेट के निचले हिस्से और श्रोणि में होता है.

Advertisement
  1. असामान्य या भारी योनि स्राव जिसमें एक अप्रिय गंध हो सकती है.
  2. असामान्य गर्भाशय रक्तस्राव, विशेष रूप से संभोग के दौरान या बाद में.
  3. संभोग के दौरान दर्द.
  4. बुखार के साथ ठंड लगना (बुखार की दवा – Paracetamol Tablet, Disprin Tablet, Sumo Tablet)
  5. पेशाब करते समय दर्द (दर्द की दवा – Nimesulide Tablet, Combiflam Tablet)
  6. बार बार पेशाब लगना

डॉक्टर को कब दिखाना चाहीए?

यदि आप तीव्र लक्षणो का अनुभव करते हैं तो अपने चिकित्सक से मिलें और तत्काल देखभाल लें:

  1. आपके पेट में तेज दर्द 
  2. मतली और उल्टी,
  3. कुछ भी नीचे रखने में असमर्थता के साथ
  4. बुखार, 101 F (38.3 C) से अधिक तापमान
  5. तीव्र योनि स्राव

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज की जोखिम किसे है?

वैसे तो कई कारक आपके पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. 25 साल से कम उम्र की यौन सक्रिय महिला होने के नाते कई यौन साथी होना,
  2. ऐसे व्यक्ति के साथ यौन संबंध में होना जिसके एक से अधिक यौन साथी हैं,
  3. बिना कंडोम के सेक्स करना,
  4. योनि में अच्छे बनाम हानिकारक बैक्टीरिया का असंतुलन,
  5. पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज या यौन संचारित संक्रमण का इतिहास होना.

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज का निवारण

  • सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करें: हर बार जब आप यौन संबंध रखते हैं तो कंडोम का प्रयोग करें, अपने भागीदारों की संख्या सीमित करें और संभावित साथी के यौन इतिहास के बारे में पूछें.
  • गर्भनिरोधक के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें: गर्भनिरोधक के कई रूप पीआईडी ​​​​के विकास से रक्षा नहीं करते हैं.
  • परीक्षण करना: यदि आपको एसटीआई होने का खतरा है, तो परीक्षण के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें. यदि आवश्यक हो तो अपने चिकित्सक के साथ एक नियमित जांच कार्यक्रम निर्धारित करें.
  • अनुरोध करें कि आपके साथी का परीक्षण किया जाए: अगर आपको पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज या एसटीआई है, तो अपने पार्टनर को टेस्ट कराने और इलाज कराने की सलाह दें.

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज की दवाइया

  1. Azithromycin Tablet
  2. Zifi 200 Tablet
  3. Cefixime Tablet
  4. Ofloxacin Tablet
  5. Ciprofloxacin Tablet

1 COMMENT

Leave a Reply